BiharBihar UpdatesELECTION SPECIALJharkhandLead NewsTOP SLIDER

लालू की ‘जेल’ में नवमी को होगी दो बकरों की बलि

रिम्स के केली बंगला में लाये गये हैं दो बकरे, बड़ा सवाल- क्या जेल और रिम्स प्रशासन से ली गयी है इजाजत?

Ranchi: सजायाफ्ता लालू प्रासद यादव के कुशल-मंगल की कामना के साथ केली बंगला (वर्तमान में लालू का कैंप जेल) में दुर्गा नवमी के रोज दो बकरों की बली देने की तैयारी है. केली बंगला रिम्स डायरेक्टर का आवास है, जहां करीब दो महीने पहले लालू प्रसाद को शिफ्ट किया गया था. बंगला में गुरुवार को ही दोनों बकरे लाये जा चुके हैं.

बकरों का इंतजाम झारखंड प्रदेश राजद महासचिव इरफान अंसारी ने किया है. हालांकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि बकरों की बलि के लिए जेल प्रशासन और रिम्स प्रशासन की इजाजत ली गयी है या नहीं. इस संबंध में इरफान अंसारी का कहना है कि लालू प्रसाद की पूजा-पाठ में आस्था है और उनकी सहमति से ही दो बकरों की बलि देने की तैयारी की जा रही है.

लालू प्रसाद यादव मांसाहार के शौकीन हैं, पर उनके मांसाहार भोजन पर डॉक्टरों ने प्रतिबंध लगा रखा है. फिलहाल उन्हें सिर्फ अंडे खाने की छूट दी गयी है. ऐसे में अब देखना है कि बंगले में बकरे की बलि के बाद लालू प्रसाद को खाने की छूट दी जाती है या नहीं.

इसे भी पढ़ेः हार की हताशा में भ्रष्ट हुई रघुवर की भाषा : राजेश ठाकुर

Sanjeevani

पिछले दो सालों से रिम्स में भर्ती हैं लालू प्रसाद यादव

चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा के कैदी हैं, लेकिन स्वास्थ्य खराब रहने के कारण दो साल दो महीने से रिम्स में इलाज के लिये भर्ती हैं. चारा घोटाले से जुड़े कई मुकदमों में उन्हें जमानत मिल चुकी है, लेकिन दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में नवंबर के पहले हफ्ते में जमानत पर सुनवाई संभावित है. अगर इस मामले में कोर्ट से उनकी जमानत मंजूर हो जाती है तो वे बाहर आ सकते हैं. शायद इसी मनोकामना को पूर्ण करने के लिए लालू प्रसाद यादव नवमी के दिन बकरों की बलि देने की तैयारी कर चुके हैं.

राजद के टिकट बंटवारे के बाद से कम हो गयी है भीड़

राजद के टिकट बंटवारे से पहले लालू यादव के कैंप जेल कैली बंग्ला में राजद के बिहारी नेताओं की भारी भीड़ होती थी. उनसे टिकट के लिये मिलने वालों का तांता लगा रहता था. पर टिकट के बंटवारे के बाद से यह नजारा देखने को नहीं मिल रहा. पिछले दो सप्ताह से उनसे मिलने कोई भी सख्स नहीं पहुंचा है.

इसे भी पढ़ेः खुद केंद्र के पास बकाया हैं झारखंड के 75 हजार करोड़, फिर भी उल्टे वही राज्य के खाते से वसूल रहा पैसा : कांग्रेस

रिम्स प्रशासन बोला-यह देखना जेल प्रशासन का काम

रिम्स निदेशक के पीआरओ डॉ निशिथ एक्का ने बताया कि रिम्स का कैली बंग्ला फिलहाल जेल एडमिनिस्ट्रेशन को दे दिया गया है. वहां की पूरी सुरक्षा की जवाबदेही रिम्स प्रबंधन की नहीं है. यह पूरी तरह से जेल एडमिनिस्ट्रेशन का मामला है. रिम्स की जवाबदेही सिर्फ लालू प्रसाद के इलाज को लेकर है.

इसे भी पढ़ेः दो ट्रैक्टर हुए दुर्घटनाग्रस्त, दोनों के चालकों की मौत

Related Articles

Back to top button