न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कर्नाटक में फिर ‘नाटक’, कांग्रेस के चार MLA विधायक दल की बैठक से नदारद

कांग्रेस ने सभी विधायकों को एक रिजॉर्ट में पहुंचा दिया

211

Bengaluru: कर्नाटक में एक बार से राजनीतिक ‘नाटक’ देखने को मिल रहा है. हलचल थमने का नाम नहीं ले रही. पिछले कुछ दिनों से भाजपा और कांग्रेस के बीच सरकार को गिराने-बनाने का खेल चल रहा है. इसी कड़ी में शुक्रवार को कांग्रेस को जोरदार झटका लगा है.  शुक्रवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक का आयोजन किया गया था. इस बैठक में चार विधायक नहीं पहुंचे. जिसके बाद से कांग्रेस में खलबली बची हुई है. इन विधायकों के बागी तेवर की वजह से कांग्रेस ने कर्नाटक के अपने सभी विधायकों को शुक्रवार शाम को एक रिजॉर्ट में पहुंचा दिया है. भाजपा द्वारा कर्नाटक में गठबंधन सरकार को गिराने की कथित कोशिशों को नाकाम करने के लिए पार्टी ने शक्ति-प्रदर्शन के तौर पर विधायकों की बैठक बुलाई थी.

पार्टी ने जारी किया था नोटिस

कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को फिलहाल तो कोई खतरा नहीं है, लेकिन इससे यह संकेत जरूर मिलता है कि राज्य कांग्रेस के भीतर सब कुछ ठीक नहीं है. चार विधायकों की गैर मौजूदगी से सरकार अल्पमत में नहीं आयी है. कांग्रेस विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि बैठक में अनुपस्थित रहनेवाले चारों विधायकों को पार्टी नोटिस जारी करेगी और उनसे इसका कारण पूछेगी. बैठक से पहले पार्टी विधायकों को नोटिस जारी किया गया था और चेतावनी दी गयी थी कि अगर वे अनुपस्थित रहे तो इसे ‘गंभीरता’ से लिया जाएगा और उनके खिलाफ दल-बदल कानून के तहत कार्रवाई की जायेगी. पार्टी के इस नोटिस को भी धता बताते हुए चार विधायक बैठक में उपस्थित नहीं हुए.

पूर्व मंत्री भी नहीं आये

कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि विधायक दल की बैठक में 4 विधायक- रमेश जरकीहोली, बी. नागेंद्र, उमेश जाधव और महेश कुमाटहल्ली नहीं शामिल हुए. जरकीहोली को हालिया कैबिनेट फेरबदल में मंत्री पद से हटाया गया था और बताया जा रहा है कि वह इससे काफी नाखुश हैं. असंतुष्ट विधायक उमेश जाधव ने पहले ही सिद्धारमैया को खत लिखकर बैठक में अपने नहीं आने की जानकारी दे दी थी. उन्होंने सिद्धारमैया को लिखा कि उनके विधायक निवास के बाहर लेटर चिपका कर मीटिंग के बारे में बताया गया था लेकिन वह अस्वस्थ हैं. इस वजह से वह बैठक में शामिल नहीं होंगे. एक और असंतुष्ट विधायक बी. नागेंद्र ने गुरुवार को कहा था कि एक कोर्ट केस की वजह से वह कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हो पाएंगे.

सरकार को नहीं है कोई खतराः कांग्रेस

बैठक में लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सिद्धारमैया, कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल और राज्य के नेता उपस्थित थे. बैठक के बाद, कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने जोर देकर कहा कि गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है और बीजेपी इसे ‘अस्थिर’ करने के लिए ‘व्यर्थ’ के प्रयास कर रही है. कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी की साजिश का ‘पर्दाफाश’ हो चुका है.

इसे भी पढ़ें – हममें भी कमियां हैं, स्वीकारते हैं, हम अविकसित राज्य हैं, हमें विकासशील बनना हैः मुख्यमंत्री

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: