JamtaraJharkhandNEWS

जामताड़ा में बिना रजिस्ट्रेशन के पार्षद ने चलायी छह साल बाइक, एमवीआई ने पकड़ी लेकिन अभी तक डीलर और ऑनर पर नहीं हुई कार्रवाई

Ranchi: जामताड़ा जिले में बिना रजिस्ट्रेशन चल रही चोरी की बाइक पुलिस ने बरामद की है. बरामद बाइक करीब 6 वर्षो से बिना रजिस्ट्रेशन नंबर के सड़क पर दौड़ रही थी. बरामद बाइक जामताड़ा के वार्ड 15 के पार्षद नीलेश कुमार का बताया जा रहा है. वाहन के सेल सर्टिफिकेट के अनुसार यह बाइक 18 अगस्त 2016 को दुमका रोड स्थित रामकृष्णा ट्रेडर्स से खरीदी गयी थी. लेकिन बाइक खरीदने के बाद वर्षों बीतने के बाद भी रजिस्ट्रेशन नहीं कराया गया, लेकिन किसी जिम्मेदार की नजर इसपर नहीं पड़ी. जानकारों की मानें तो मोटर व्हीकल एक्ट में डीलर के लिए ही यह नियम है कि वह गाड़ी का रजिस्ट्रेशन होने के बाद उसका नंबर गाड़ी की नंबर प्लेट पर लिखकर ही डिलीवरी करें. नई व्यवस्था में डीलर्स प्वाइंट रजिस्ट्रेशन में रजिस्ट्रेशन की सारी औपचारिकताएं डीलर की ओर से ही की जाती हैं. नियमानुसार डीलर को वाहन बेचने के लिए विभाग से दिए जाने वाले ट्रेड सर्टिफिकेट को निरस्त करने तक की कार्रवाई का प्रावधान है.

 

इन वजहों से बिना रजिस्ट्रेशन गाड़ी चलने पर है रोक

मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कोई भी वाहन बिना रजिस्ट्रेशन के सड़क पर नहीं आ सकता है. इसके पीछे कई कारण होते हैं. ऐसा वाहन किसी को टक्कर मारकर भागता है तो नंबर के आधार पर उसे पकड़ा जाना मुश्किल होता है. ऐसे वाहन से दुर्घटना में बीमा कंपनियां अधिकांश मामलों में नुकसान की भरपाई और घायल को क्षतिपूर्ति भी नहीं देती हैं. बिना रजिस्ट्रेशन गाड़ी की डिलीवरी होने पर विभाग को समय पर गाड़ी का टैक्स भी नहीं मिल पाता है और राजस्व की हानि भी होती है.

Related Articles

Back to top button