न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

इन्वेस्टर मीट में बोले नगर विकास मंत्री, बस टर्मिनल के निवेशकों को परेशानी नहीं होगी, आर्थिक नुकसान नहीं होगा

अक्टूबर तक आईएसबीटी के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी : सचिव

42

Ranchi : राज्य के सभी शहरों में आधारभूत संरचना और नागरिक सुविधा उपलब्ध कराने को विशेष दायित्व बताते हुए नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि इसके लिए सरकार निवेशकों को हर तरह की सुविधा मुहैया करायेगी. राज्य सरकार इसके लिए सजग और तत्पर है. मंत्री सीपी सिंह शहरी आधारभूत संरचना के विकास को लेकर नगर विकास एवं आवास विभाग की ओर से सोमवार को आयोजित इन्वेस्टर मीट में बोल रहे थे.

eidbanner

इस क्रम में रांची, धनबाद और जमशेदपुर में इंटर स्टेट बस टर्मिनल का पीपीपी मोड पर निर्माण और जमशेदपुर के गोलमुरी, साकची, बिष्टुपुर और बारीडीह में पूर्व से बने मार्केटिंग कॉम्प्लेक्स के जीर्णोधार का प्रस्ताव सरकार ने रखा.  इन्वेस्टर मीट में शामिल निवेशकों को सरकार द्वारा आश्वस्त किया गया कि निवेशकों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जायेगी और उन्हें आर्थिक रूप से कोई नुकसान नहीं होगा.

इसे भी पढ़ें – इंडस्ट्रीयल फीडर की बजाय घरेलू फीडर से जगदंबा इंडस्ट्रीज, कदमा को मिल रही बिजली

निवेश नीतियों में लचीलापन लाने की सलाह

कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए सीपी सिंह ने कहा कि राज्य की जिन जगहों पर अंतरराज्यीय बस टर्मिनल (आईएसबीटी) बनाने का निर्णय लिया गया है, वे सभी उन शहरों की महंगी और महत्वपूर्ण जगहें हैं.  इसलिए निवेशक कंपनियों को नुकसान नहीं होगा. राज्य सरकार को भी सलाह दी कि वह अपनी निवेश की नीतियों में भी थोड़ा लचीलापन लाये, ताकि राज्य में निवेश की गति को बढ़ावा मिल सके.

इसे भी पढ़ें – बालू लूट की खुली छूटः पुलिस, प्रशासन और दबंगों ने मिलकर कर ली 600 करोड़ की अवैध कमायी-2

निजी निवेश के लिए तैयार होगी ड्राफ्ट इन्वेस्टमेंट पॉलिसी : सचिव

mi banner add

विभागीय सचिव अजय कुमार सिंह ने कहा कि राज्य में शहरी विकास के क्षेत्र में निजी भागीदारी को सुनिश्चित करना है. इस दिशा में विभाग ने हर संभव प्रयास किये हैं. कहा कि निजी निवेश के लिए नीतियों का निर्धारण भी हुआ है, पर यह इन्वेस्टर मीट काफी महत्वपूर्ण है.

इस मीट के बाद निजी निवेश के लिए एक ड्राफ्ट इन्वेस्टमेंट पॉलिसी तैयार कर मंत्री परिषद के समक्ष रखी जायेगी. मंत्री परिषद से अनुमति व स्वीकृति के बाद सरकार का टारगेट है कि आगामी अक्टूबर तक पहले तीन शहरों की आईएसबीटी के निर्माण कार्य को धरातल पर लाने का प्रयास हो. एयरपोर्ट की तर्ज पर बस टर्मिनल पर ही यात्रियों के लिए तमाम सुविधाएं मॉल ,कमर्शियल कंपलेक्स, होटल्स इत्यादि की व्यवस्था रहेंगी.

इसे भी पढ़ें – पलामू: हाइटेंशन तार की चपेट में आते ही ओवरहाइट बस में लगी आग, बड़ा हादसा टला

इन शहरों में खोला जाना है आईएसबीटी और मार्केटिंग कॉम्पलेक्स

  • रांची में इंटर स्टेट बस टर्मिनल कांके अंचल के दुबलिया में बनेगा. यह 38.5 एकड़ में होगा. इसमें कुल प्रस्तावित राशि 275 करोड़ रुपये होगी, जिसमें 97 करोड़ बस स्टैंड पर खर्च होंगे. यहां कुल 50 बस प्लेटफार्म बनाये जायेंगे, जिसमें कुल 219 बसें खड़ी करने का प्रावधान है.
  • रांची के खादगढ़ा में 14.30 एकड़ के हिसाब से आईएसबीटी बनाया जायेगा. इसमें कुल प्रस्तावित खर्च 150 करोड़ है, जिसमें आठ करोड़ बस स्टैंड पर खर्च होंगे. यहां पर कुल 19 बस प्लेटफार्म का निर्माण होगा, जिसमें कुल 32 बसें खड़ी की जायेगी,
  • धनबाद के बरटांड में कुल 18 एकड़ में आईएसबीटी का निर्माण होगा, इसमें कुल प्रस्तावित राशि 266 करोड़ है, जिसमें कुल 60 करोड़ बस स्टैंड के निर्माण में खर्च होगा. यहां पर कुल 18 बस प्लेटफार्म का निर्माण होगा, जिसमें कुल 35 बसें खड़ी की जायेगी.
  • धनबाद के ही जीटी रोड 12.25 एकड़ में आईएसबीटी का निर्माण होगा. इसमें कुल प्रस्तावित राशि 72 करोड़ अनुमानित है, जिसमें से कुल 37 करोड़ रुपये बस स्टैंड के विकास पर खर्च होंगे.
  • जमशेदपुर के मानगो में बनने वाले 9.98 एकड़ के आईएसबीटी में कुल 78 करोड़ खर्च होंगे. इसमें करीब 50 करोड़ रुपये बस स्टैंड के विकास पर खर्च होंगे. यहां कुल 24 प्लेटफार्म बनाये जायेंगे, जिसमें कुल 94 बसें खड़ी करने का प्रावधान है.
  • उपरोक्त बस टर्मिनेट के अलावा जमशेदपुर के साकची, बिष्टुपुर, गोलमुरी और बारीडीह में मार्केटिंग कॉम्पलेक्स का निर्माण किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: