JamshedpurJharkhand

हल्दीपोखर पीएचसी में न डॉक्टर, न दवाइयां, इलाज को भटकते हैं मरीज

शौर्य यात्रा समिति के सदस्यों ने स्वास्थ्य मंत्री और सिविल सर्जन से लगाई कार्रवाई की गुहार, दी आंदोलन की चेतावनी

Jamshedpur : पोटका प्रखंड के हल्दीपोखर रेलवे स्टेशन मोड के समीप जमशेदपुर जा रहे दो युवक जवान सामद एवं सन्नी सामद सड़क दुर्घटना होने से घायल हो गये. मौके पर मौजूद शौर्य यात्रा समिति के सदस्यों ने उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, हल्दीपोखर लेकर पहुंचे पर केंद्र में डॉक्टर मौजूद नहीं थे, यहां तक कि टिटनेस इंजेक्शन तक नहीं था. बाहर से दवाई एवं सामग्री लाने के बाद मरीजों का उपचार हुआ. समिति के सूरज मंडल ने झारखंड सरकार पर सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि ये सरकार के लिए शर्म की बात है इसकी जानकारी कुछ दिन पूर्व लिखित रूप से जिले के सिविल सर्जन जी को दी गई थी, पर गंभीरता से नहीं लिया गया. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, सिविल सर्जन डॉ अरविंद कुमार लाल एवं प्रखंड प्रभारी से निवेदन है कि समस्या का समाधान जल्द से जल्द करे, क्योंकि इस ग्रामीण क्षेत्र में 12 से 15 किलोमीटर दायरे में पढ़ने वाले लोग स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए हल्दीपोखर आते हैं. इसका समाधान नहीं होने पर ग्रामीण धरना पर बैठेंगे. मौके पर सूरज मोदक, सागर मंडल, मुकुल गुप्ता, राजू गोप, रंजन कुमार, विशाल नायक भी मौजूद थे.

Advt

इसे भी पढ़ें: मानगो में होल्डिंग टैक्स जमा ना करने वाले 50 डिफॉल्टरों को भेजा गया नोटिस

Advt

Related Articles

Back to top button