GiridihJharkhand

गिरिडीह में अधिकारियों की लापरवाही की भेंट चढ़ी सैकड़ों बोरी अनाज, खुले में पड़ा पड़ा हुआ खराब

Giridih: गिरिडीह में रैंक प्वाइंट बनने के साथ उद्योगपतियों को सुविधा मिली, तो सरकार की गरीब कल्याणकारी योजनाओं का फायदा भी दिख रहा है. सीधे तौर पर कहे कि रैंक प्वाइंट के माध्यम से अब सरकारी अनाज का स्टॉक गिरिडीह पहुंच रहा है. लेकिन इसी रैंक प्वाइंट पर गुरुवार को जो दिखा. वह हैरान करने वाला था, क्योंकि अधिकारियों की लापरवाही की वजह से अनाज का बड़ा स्टॉक खुले में पड़ा पड़ा खराब हो गया. करीब एक हजार बोरी चावल लापरवाही के साथ रैंक प्वाइंट पर तिरपाल से ढ़का मिला. जिसमें सैकड़ों बोरी अनाज खुले में पानी से भींगा हुआ मिला. यानी कि जो अनाज जरुरतमंदो के बीच पहुंचता, उससे पहले ही खराब हो चुके हैं. जाहिर सी बात है कि इससे बड़ी लापरवाही अधिकारियों की देखने को नहीं मिल सकती. जब अनाज का इतना बड़ा स्टॉक रैंक प्वाइंट पर तिरपाल से ढ़के रह गए. और संबधित विभागों के अधिकारी उन स्टॉकों को उसी हालत में वहीं छोड़ दिया. इतना ही नही स्टॉक के कई ऐसे बोरे भी थे, जिसे चूहों ने कुतर दिया था उनमें रखे चावल गिर रहे थे. काफी बोरियां तिरपाल से बाहर भी थे, मामले में जब विभागीय अधिकारियों की लापरवाही को लेकर जब उनसे जानकारी लेने की कोशिश की गई, तो उनका मोबाइल नंबर नोट रिचेबल मिला.

खुले में बर्बाद हो रहा अनाज

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह : कांग्रेस के जिला संयोजक ने की हेमंत सरकार की तारीफ

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button