JharkhandRanchi

नेत्रहीन उम्मीदवार नहीं मिलने की स्थिति में पद को रिक्त रखना जरूरी : नि:शक्तता आयुक्त

विज्ञापन
Advertisement

Ranchi : राज्य नि:शक्तता आयुक्त ने जेपीएससी को पत्र लिख कर कहा है कि नेत्रहीन उम्मीवार नहीं मिलने की स्थिति में उक्त श्रेणी के पद को रिक्त रखा जाना चाहिए था. उन्होंने स्पष्ट किया है कि नियमानुसार नेत्रहीन/दृष्टिबाधित, अल्पदृष्टिबाधित उम्मीदवार नहीं मिलने की स्थिति में पद को रिक्त रखा जाना चाहिए ताकि बैकलॉग के आधार पर अगली नियुक्ति में जोड़ कर नियुक्ति की जा सके.

इसे भी पढ़ें – राज्य के तीन आईपीएस अधिकारियों का तबादला, आरके माल्लिक बने जेपीएचसीएल के एमडी

दो सीटों को रिक्त रखा जाना चाहिए था

गौरतलब है कि अंधापन और कम दृष्टिवालों के लिए आरक्षित सात सीटों के मुकाबले छठी जेपीएससी परीक्षा के अंतिम परिणाम में सिर्फ पांच ही उम्मीदवार योग्य पाये गये. जेपीएससी की ओर से कार्मिक विभाग को भेजी गयी अनुशंसा में नेत्रहीनों के आरक्षित सीट पर सामान्य उम्मीदवारों की नियुक्ति की अनुशंसा की गयी है. जबकि नियमानुसार नेत्रहीनों के लिए आरक्षित सीटों में उम्मीदवार नहीं मिलने की स्थिति में उक्त सीट को खाली छोड़ा जाता है. इस खाली सीट को बैकलॉग के माध्यम से भरा जाता है. इस नियम के आलोक में अंधापन व कम दृष्टिवाले दो नि:शक्त उम्मीदवार नहीं मिलने की वजह से कुल 326 रिक्तियों के मुकाबले 324 पदों पर ही नियुक्ति की अनुशंसा की जानी चाहिए थी. लेकिन झारखंड लोकसेवा आयोग ने सभी 326 पदों पर नियुक्ति की अनुशंसा की है. इससे इस श्रेणी के दो उम्मीदवारों को अगली परीक्षा में उनका कानूनी अधिकार नहीं मिल सकेगा.

advt

इसे भी पढ़ें – कोरोना से निजात को लेकर केंद्र के दावे लचर साबित हो रहे हैं

advt
Advertisement

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: