न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आयुष्मान भारत योजना में रिम्स देश भर में टॉप-24 से भी बाहर, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट बोले- आंकड़े सही नहीं हैं

117

Ranchi : जनकल्याणकारी योजना कही जानेवाली प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) में झारखंड के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स को देश भर में टॉप-24 में भी स्थान नहीं मिला है. रिम्स की हालत इतनी बुरी है कि बीते दो महीनों में सिर्फ 15 मरीजों का ही क्लेम सेटलमेंट हो पाया है. टॉप-24 में झारखंड के सिर्फ दो ही अस्पतालों ने अपनी जगह बनायी है. रांची जिला का सदर अस्पताल टॉप-24 में 12वें स्थान पर है. सदर हॉस्पिटल में इस योजना के तहत 223 मरीजों का ट्रीटमेंट हुआ है. वहीं, सदर हॉस्पिटल, गुमला लिस्ट में 24वें स्थान पर है. छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित डीकेएस पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर 730 मरीजों का क्लेम सेटलमेंट कर पहले स्थान पर बना हुआ है. वहीं, दूसरे स्थान पर सुरगुजा के डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल अंबिकापुर है. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल अंबिकापुर में इस योजना के तहत 612 मरीजों का इलाज किया गया.

झारखंड की धरती से ही हुई थी योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) झारखंड की धरती से ही शुरू हुई थी. यहां के हॉस्पिटल प्रबंधन को ही इस योजना को समझने में एक महीने का समय लग गया. राजधानी रांची समेत अन्य स्थानों के प्राइवेट हॉस्पिटल इस योजना में कोई दिलचस्पी नहीं ले रहे हैं. प्रतिदिन यह शिकायत आती है कि निजी हॉस्पिटल आयुष्मान भारत योजना के तहत इलाज करना नहीं चाहते हैं. जबकि, सरकारी हॉस्पिटलों में दवाइयों और इंप्लांट के समय पर नहीं मिलने की वजह से मरीज का इलाज नहीं हो पाता है.

आंकड़ा सही नहीं आ पाया

रिम्स के डिप्टी सुपरिंटेंडेंट डॉ संजय कुमार ने बताया कि जारी किये गये आंकड़े सही नहीं हैं. रिम्स में सिर्फ 15 मरीजों का ही इलाज नहीं हुआ है. आयुष्मान भारत के तहत रिम्स में सैकड़ों मरीजों का इलाज हुआ है, क्लेम करने में देरी की वजह से आंकड़ा सही से नहीं आ पाया.

silk_park

देश के किस हॉस्पिटल में कितने मरीजों का हुआ इलाज

  1. डीकेएस पोस्ट ग्रेजुएट इस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर, रायपुर, रजिस्टर्ड मरीज-1663, इलाज- 730 मरीजों का
  2. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, अंबिकापुर,रजिस्टर्ड मरीज -1113, इलाज- 612 मरीजों का
  3. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, दुर्ग, रजिस्टर्ड मरीज-735, इलाज- 536 मरीजों का
  4. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, कंकेर, रजिस्टर्ड मरीज- 526, इलाज- 376 मरीजों का
  5. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, धमतारी, रजिस्टर्ड मरीज- 557, इलाज- 346 मरीजों का
  6. सीएचसी चरामा, कंकेर, रजिस्टर्ड मरीज- 369, इलाज- 337 मरीजों का
  7. सिविल हॉस्पिटल, एजवाल, रजिस्टर्ड मरीज- 554, इलाज- 324 मरीजों का
  8. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, सतना, रजिस्टर्ड मरीज-1118, इलाज- 306 मरीजों का
  9. सिविल हॉस्पिटल, पाखनजुर, कंकेर, रजिस्टर्ड मरीज- 362, इलाज- 291 मरीजों का
  10. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, कोरबा, रजिस्टर्ड मरीज- 441, इलाज- 275 मरीजों का
  11. बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज, सागर, रजिस्टर्ड मरीज- 628, इलाज- 235 मरीजों का
  12. सदर हॉस्पिटल, रांची, रजिस्टर्ड मरीज- 495, इलाज- 223 मरीजों का
  13. सीएचसी, खदगांव, कोरेया, रजिस्टर्ड मरीज- 271, इलाज- 216 मरीजों का
  14. इंदिरा गांधी डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, मंदसौर, रजिस्टर्ड मरीज- 346, इलाज- 198 मरीजों का
  15. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, नारायणपुर, रजिस्टर्ड मरीज- 294, इलाज- 189 मरीजों का
  16. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, दंतेवाड़ा, रजिस्टर्ड मरीज- 671, इलाज- 188 मरीजों का
  17. सीएचसी, भानुप्रतापपुर, कंकेर, रजिस्टर्ड मरीज- 248, इलाज- 188 मरीजों का
  18. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, कोंदागांव, रजिस्टर्ड मरीज- 249, इलाज- 187 मरीजों का
  19. सीएचसी, लोरमी, मुंगेली, रजिस्टर्ड मरीज- 250, रजिस्टर्ड मरीज 177 मरीजों का
  20. सीएचसी, अंतागढ़, कंकेर, रजिस्टर्ड मरीज-195, इलाज- 176 मरीजों का
  21. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, बीजापुर, रजिस्टर्ड मरीज- 222, इलाज- 171 मरीजों का
  22. डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, होशंगाबाद, रजिस्टर्ड मरीज- 295, इलाज-170 मरीजों का
  23. जयप्रकाश डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, भोपाल, रजिस्टर्ड मरीज- 433, इलाज- 158 मरीजों का
  24. सदर हॉस्पिटल, गुमला, रजिस्टर्ड मरीज- 263, इलाज- 154 मरीजों का

इसे भी पढ़ें- कैंसर पीड़ित की पत्‍नी ने इलाज के लिए सरकार से लगायी गुहार

इसे भी पढ़ें- पलामू: छह करोड़ की चैनपुर ग्रामीण जलापूर्ति योजना बंद ! 10 दिनों से जलापूर्ति ठप

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: