JamshedpurJharkhandSaraikela

Adityapur : आदित्यपुर  में युवक ने फांसी लगाकर दी जान, नशे का आदी था सुमित, साउंड सिस्टम फिटिंग का काम करता था काम

Adityapur :  आदित्यपुर थाना क्षेत्र के गम्हरिया मोतीनगर रोड नंबर दो के रहनेवाले 18 वर्षीय सुमित गोराई ने बुधवार की तड़के फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उसके पिता नितिन गोराई पलंबर का काम करते हैं. सुमित एक टेंट हाउस में साउंड सिस्टम फिटिंग का काम करता था. वह नशे का सेवन करने का आदि बताया जा रहा है.

मां ने फंदे से लटका देखा तो उड़ गए होश

घटना का खुलासा सुबह पांच बजे तब हुआ जब सुमित की उसके कमरे में गई. उन्होंने देखा कि बेटा उनकी साड़ी से फंदा बनाकर एस्बेस्ट्स के पाइप से झूल रहा है. इससे उनके जैसे होश उड़ गए. वह जोर-जोर से चीखने-चिल्लाने लगी. तभी मां की आवाज सुनकर सुमित का बड़ा भाई उमेश वहां आया. वह पेशे से फोटोग्राफर बताया जाता है. उसके सुमित कमरे में पहुंचते ही पीछे से सुमित के पिता नितिन गोराई के अलावा पास-पड़ोस के लोग भी वहां पहुंच गये. उन्होंने देखा कि सुमित की सांस चल रही है. उसे आनन-फानन में फंदे से उतारकर इलाज के लिए गम्हरिया टीचर ट्रेनिंग स्कूल के पास सीएचसी ले जाया गया. वहां डॉक्टरों ने उसे एमजीएम अस्पताल जाने को कहा, लेकिन परिजन भी समझ रहे थे कि एमजीएम अस्पताल पहुंचते-पहुंचते सुमित की सांसे थम सकती है. वे सुमित को नाजुक हालत में आदित्यपुर के गंगोत्री नर्सिंग होम ले गए. हालांकि वहां भी डॉक्टरों ने सुमित की हालत देख तत्काल एमजीएम अस्पताल ले जाने को कहा. इस बीच एमजीएम अस्पताल पहुंचते-पहुंचते सुमित ने आखिरकार दम तोड़ दिया. वहां उसके परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था.

Sanjeevani

इलाज में देर होने से गई जान, कहा-परिजनों ने 

इधर सुमित के परिजनों का कहना था कि वे उसे सही समय पर अस्पताल लेकर पहुंचे थे. यदि गम्हरिया सीएचसी या साईं नर्सिंग होम में उसका इलाज होता जो शायद उसकी जान बच सकती थी.

घटना के कारणों की जांच में जुटी पुलिस 

दूसरी ओर, आदित्यपुर पुलिस घटना के कारणों की जांच में जुटी है. सुमित के भाई उमेश की मानें तो आत्महत्या करने का उसके नशे के सेवन का आदि होना हो सकता है. परिवारवाले सुमित को अक्सर नशापान से बचने की सलाह देते थे. कहीं, उसी कारण तनाव में आकर तो उसने आत्महत्या नहीं कर ली? बहरहाल पुलिस मामले से जुड़े सभी पहलुओं की जांच कर रही है. शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. पुलिस की जांच पूरी होने के बाद ही घटना के पुख्ता कारणों के खुसाले की उम्मीद जतायी जा रही है.

मीरुडीह में भी युवक ने फांसी लगाकर दी जान

इधर आदित्यपुर के आरआईटी थाना क्षेत्र के मीरुडीह बस्ती में 25 वर्षीय विष्णु रुईदास ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह राज मिस्त्री का काम करता था. बताया जाता है कि पत्नी से विवाद होने के बाद वह मीरुडीह स्थित अपने बड़े भाई के घर पर आ रहा था. यहां मंगलवार को उसने आत्महत्या कर ली. पुलिस घटना के कारणों की जांच में जुटी हुई है.

इसे भी पढ़ें-पहली अंतर्राष्ट्रीय इंडो बांग्ला देश टारगेट बॉल में झारखंडी खिलाड़ियों ने देश को दिलाया सिल्वर

 

Related Articles

Back to top button