JharkhandLead NewsRanchi

21 सालों में 89 पंचायतों में गांव की सरकार को नहीं मिल सका अपना सचिवालय

Ranchi : राज्य गठन के 21 साल से अधिक हो गये. 32 वर्षों के अंतराल के बाद 2010 में पहली बार राज्य में पंचायत चुनाव हुए. 4400 से अधिक पंचायतों में गाव की सरकार चुनी गयी. पांच बरस बाद फिर 2015 में चुनाव हुए. इसकी अवधि भी दिसंबर 2020 में पूरी हो गयी. फिलहाल कार्यकारी समिति के भरोसे गांव की सरकार (त्रिस्तरीय) चल रही है. इस 21 साल के दौरान पंचायतों में जनप्रतिनिधियों के लिए पंचायत सचिवालय बनाये गये. साल दर साल राज्य के 263 प्रखंडों में पंचायत भवन बनते रहे. पर स्थिति यह है कि अब तक (दिसंबर 2021) 4350 पंचायतों में 89 पंचायतें ऐसी हैं जहां पंचायत भवन नहीं हैं या अधूरे हैं. राज्य के 24 में से केवल तीन जिले हजारीबाग, पलामू और जामताड़ा ही ऐसे हैं जहां पंचायत भवन हर पंचायत में उपलब्ध कराये जा सके हैं.

Sanjeevani

4261 में काम पूरा

MDLM

पंचायती राज विभाग के मुताबिक सभी चौबीसों जिलों से प्राप्त विवरणी के मुताबिक 263 प्रखंडों में 4350 पंचायतों की तुलना में 4261 में पंचायत भवन का निर्माण पूरा हो चुका है. चतरा, सिमडेगा, रांची में अब भी एक-एक पंचायत भवन, देवघर, दुमका, गिरिडीह, पाकुड़ और साहेबगंज में 2-2 पंचायत भवनों का निर्माण नहीं हो सका है. इसके अलावे धनबाद, गोड्डा, खूंटी और सरायकेला खरसावां में 3-3, लातेहार, लोहरदगा में 4-4, रामगढ़ में 5, पश्चिमी सिंहभूम में 6, कोडरमा में 7, गुमला में 9 पंचायतों में पंचायत भवन की कमी है. गढ़वा में 10 और पूर्वी सिंहभूम में 16 पंचायत भवनों की अब भी जरूरत है.

इसे भी पढ़ें :  मुआवजा भुगतान से संबंधित 18 प्रस्तावों को मिली स्वीकृति

किस जिले में कितने पंचायत भवन तैयार

पंचायती राज विभाग के अनुसार राज्य में हजारीबाग के 16 प्रखंडों में 250 पंचायत भवनों के विरुद्ध सभी पंचायतों में इसकी सुविधा उपलब्ध करा दी गयी है. इसी तरह जामताड़ा के 6 प्रखंडों में सभी 118 पंयायतों में पंचायत भवन और पलामू के 21 प्रखंडों में 265 पंचायतों में पंचायत भवन की सुविधा दी जा चुकी है. बाकी जिलों में एक से लेकर 16 पंचायत भवनों की जरूरतों को पूरा किये जाने का प्रयास जारी है.

जिला प्रखंडों की सं कुल पंचायतों की सं पूर्ण पंचायत भवनों की सं  
बोकारो 9 249 246  
चतरा 12 152 151  
देवघर 10 194 192  
धनबाद 10 256 253  
दुमका 10 206 204  
पूर्वी सिंहभूम 11 231 215  
गढ़वा 20 189 179  
गिरिडीह 13 348 346  
गोड्डा 9 197 194  
गुमला 12 159 150  
खूंटी 6 86 83  
कोडरमा 6 106 99  
लातेहार 9 115 111  
लोहरदगा 7 66 62  
पाकुड़ 6 128 126  
रामगढ़ 6 125 120  
रांची 18 305 304  
साहेबगंज 9 162 160  
सरायकेला खरसावां 9 132 129  
सिमडेगा 10 94 93  
पश्चिमी सिंहभूम 18 217 211  

इसे भी पढ़ें : सपा को झटका: मुलायम की छोटी बहू अपर्णा व साढ़ू प्रमोद भाजपा में शामिल, दिल्ली में ली सदस्यता

Related Articles

Back to top button