Top StoryWorld

कश्मीर मसले पर इमरान खान ने 20 मिनट तक की डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बात

विज्ञापन

Washington: कश्मीर मसले पर पाकिस्तान की तिलमिलाहट कम नहीं हो रही. अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी साथ नहीं मिलने के बाद पड़ोसी देश ने एकबार फिर अमेरिका से गुहार लगायी है.

पाकिस्तानी पीएम इमरान ने शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से फोन पर बात की.

खबर है कि 20 मिनट तक फोन पर हुई इस बातचीत में ट्रंप ने पाकिस्तान को आतंकवाद पर रोक लगाने और भारत के साथ तनावों पर बातचीत से मसला निपटाने की नसीहत दी है.

इसे भी पढ़ेंःकश्मीर मसले पर UNSC की बैठक में पाकिस्तान के साथ सिर्फ चीन, रूस ने निभायी भारत से दोस्ती

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ शुक्रवार को फोन पर हुई बातचीत में कश्मीर मामले पर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता के जरिए तनाव कम किए जाने की महत्ता पर बल दिया.

बातचीत से सुलझाये मसला- डोनाल्ड ट्रंप

जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा हटाने और उसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित करने के भारत के फैसले को लेकर न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बंद कमरे में हुई बैठक से पहले ट्रंप और इमरान ने फोन पर बातचीत की.

बैठक के बाद व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव होगान गिडले ने एक बयान में कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने जम्मू-कश्मीर में हालात के संबंध में भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता के जरिए तनाव कम करने की महत्ता बताई.’’

उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने अमेरिका और पाकिस्तान के बीच बढ़ते संबंधों को आगे बढाने के तरीकों पर चर्चा की.

इसे भी पढ़ेंःराजनाथ सिंह ने कहा, परमाणु हथियारों से पहले हमला नहीं करने के सिद्धांत पर भारत अडिग , लेकिन…

इससे पहले, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस्लामाबाद में कहा कि खान ने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सुरक्षा परिषद की बैठक के संबंध में अमेरिकी राष्ट्रपति को भरोसे में लिया है.  पीएम कई देशों के संपर्क में हैं और कश्मीर मुद्दे पर वैश्विक समर्थन जुटाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं’.

इससे पहले कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन पाने में नाकाम हो रहे इमरान खान ने स्रेब्रेनिका नरसंहार का जिक्र करते हुए दुनिया को डराने की कोशिश की थी.

15 अगस्त को ट्वीट कर इमरान खान ने पूछा था, कि क्या दुनिया चुपचाप स्रेब्रेनिका की तरह नरसंहार देखेगी जहां मुसलमानों का सफाया किया जाएगा. मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चेतावनी देता हूं कि अगर ऐसा हुआ तो मुस्लिम देशों में इसके गंभीर परिणाम देखने को मिलेंगे.

साथ ही पाकिस्तान के पीएम ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत की केंद्र सरकार जम्मू और कश्मीर में नरसंहार कराने की तैयारी में है.

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close