न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इमरान खान को एक फोन एप और पांच करोड़ वोटरों के डेटाबेस ने जिताया!

पाकिस्तान में हुए आम चुनाव को लेकर एक नयी खबर आयी है.

255

Islamabad : पाकिस्तान में हुए आम चुनाव को लेकर एक नयी खबर आयी है. कहा जा रहा है कि इमरान खान की जीत में अमेरिका में रहने वाले दो पाकिस्तानी मुस्लिमों द्वारा बनाया एप का येागदान रहा. खबरों के अनुसार इस फोन एप और पाकिस्तान के पांच करोड़ वोटरों के डेटाबेस ने इमरान को जीत दिला दी. समाचार एजेंसी रायटर्स की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान की पार्टी पीटीआई ने इस एप के जरिये वोटरों को टारगेट किया. कहा कि वोटिंग के दिन वोटरों को मोबलाइज कर बूथ सेंटर पर पहुंचने में ऐप ने मदद की. रायटर्स के अनुसार  25 जुलाई को मतदान से पूर्व तक पीटीआई के बड़े नेता इस प्लान के संबंध में चुप्पी साधे रखी.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- पांच साल में झारखंड से गायब हुए 2789 बच्चे, लगभग आधे का नहीं मिल सका सुराग

पीटीआई नेताओं ने प्लान की भनक विपक्षी पार्टियों को नहीं लगने दी

पीटीआई नेताओं ने प्लान की भनक विपक्षी पार्टियों को नहीं लगने दी. क्योंकि विपक्षी दल इस प्लान को जान कर उसकी काट निकाल सकते थे. बता दें कि इस एप को कॉस्टीट्यूएंसी मैनेजमेंट सिस्टम का नाम दिया गया था.  आमिर मुगल नाम के शख़्स को इस एप और डेटाबेस के इस्तेमाल का उत्तरदायित्व दिया गया था.  आमिर मुगल के अनुसार इसका बहुत बड़ा असर देखने को मिला. बताया कि  इस एप में किसी भी वोटर का नंबर डालने से उसके बारे में सारी सूचना मिल सकती थी, जैसे कि उसका पता, उसके घर में कितने वोटर्स हैं, इत्यादि इसके जरिये पीटीआई नेता मतदाताओं को टारगेट कर सकते थे.

Related Posts

भारत में बाढ़ के कारण 20 साल में  547 लाख करोड़ रुपए का नुकसान  : संयुक्त राष्ट्र

देश में हर साल की तरह इस बार भी बाढ़ अपना विकराल रूप दिखा रही है. जान लें कि वर्तमान में  एक दर्जन राज्यों से ज्यादा राज्य बाढ़ की चपेट में है,

जान लें कि चुनाव से पूर्व इमरान खान ने  पीटीआई कैंडिडेट को व्हाट्सएप के जरिये वीडियो संदेश भेज कर उन्हें सीएमएस अपनाने को कहा था.  इमरान के अनुसार  उन्होंने  महसूस किया कि यह कैसे काम करता है. इमरान ने इसे आपे पांचों संसदीय क्षेत्र में इस्तेमाल किया. बता दें कि  पाकिस्तान में मतदान के दिन इस एप पर कुल दो करोड़ सर्च किये जाने की बात कही गयी.

इसे भी पढ़ें- ‘सरकार की कारगुजारियां उजागार करने वाले को देशद्रोही का तमगा देना बंद करें रघुवर सरकार’

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: