न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इमरान खान अमेरिका पहुंचे, स्वागत के लिए कोई बड़ा अधिकारी नहीं आया

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने पहले यूएस दौरे पर हैं. लेकिन अमेरिका पहुंचने पर इमरान खान का स्वागत नही होना चर्चा का विषय है

82

Washington :  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने पहले यूएस दौरे पर हैं. लेकिन अमेरिका पहुंचने पर इमरान खान का स्वागत नही होना चर्चा का विषय है. जान लें कि उनके स्वागत के लिए कोई बड़ा स्टेट ऑफिसर नहीं आया.  हालांकि इमरान खान  अमेरिका  सरकारी फ्लाइट से नहीं गये.   इमरान खान कतर एयरवेज की सामान्य  कमर्शियल फ्लाइट से अमेरिका गये.   वह तीन दिनों के इस दौरे में अमेरिका में पाकिस्तान के राजनयिक आवास पर ही रुकेंगे.

हवाई अड्डे पर उनके स्वागत के लिए उनके विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी मौजूद थे, काफी संख्या में वहां मौजूद पाकिस्तानी मूल के अमेरिकियों ने भी उनका स्वागत किया. बता दें कि इससे पहले अमेरिका की आधिकारिक यात्रा पर आने वाले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ थे जो अक्टूबर 2015 में यहां आये थे.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

वह 22 जुलाई को व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करेंगे. प्रधानमंत्री इमरान खान का तीन दिवसीय यात्रा के दौरान अमेरिकी कांग्रेस के प्रमुख नेताओं, कॉरपोरेट नेताओं तथा पाकिस्तानी समुदाय के लोगों से मिलने का भी कार्यक्रम है.

Related Posts

#Delhi_Violence : ट्रंप के बयान पर बर्नी सैंडर्स सहित कई american सांसद बरसे, कहा,  यह मानवाधिकार पर नेतृत्व की विफलता

बुधवार को अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग ने भारत सरकार ने अनुरोध किया था कि भारत अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए तेजी से कार्रवाई करे.

इमरान खान के अमेरिका पहुंचने का वीडियो पीटीआई के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से शेयर किया गया है. पीटीआई द्वारा  शेयर  किये गये वीडियो में नजर आ रहा है कि इमरान खान किसी आम यात्री की ही तरह फ्लाइट से निकले.  इस पर कई यूजर्स ने कॉमेंट किये. कुछ ने इसे प्रधानमंत्री के साथ बुरा बर्ताव बताया तो कुछ ने इस पर वर्ल्ड कप हार का बदला कहकर भी चुटकी ली.

 उमर अब्दुल्ला ने अमेरिका को  निशाने पर लिया

उमर अब्दुल्ला ने पाक पीएम को ट्रोल किये जानेवालों पर निशाना साधते हुए अमेरिका को  ही निशाने पर लिया है. अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि उन्होंने अपने देश का पैसा बचाया.  लिखा कि इमरान खान अपने साथ ईगो लेकर नहीं चलते. जैसा ज्यादातर नेता करते हैं. एक बार फिर मुझे याद दिलायें  कि यह कैसे एक बुरी चीज है.  यह अमेरिका की सत्ता पर कठोर आघात करता है न कि इमरान खान पर.

इसे भी पढ़ें :  कश्मीर में अशांति फैलाने के लिये यासीन मलिक ने ISI से लिए पैसे: NIA

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like