World

इमरान खान को मोदी से उम्मीद, कहा- बीजेपी सत्ता में आयी तो शांति बहाली की बेहतर संभावना

Islamabad: भारत-पाकिस्तान के बीच पिछले कुछ महीनों से रिश्ते बेहद खराब हुए हैं. हालांकि रिश्तों में आई खटास से अलग पाकिस्तान के पीएम इमरान का मानना है कि अगर भारत में दोबारा से बीजेपी की सरकार आयी तो दोनों देशों के बीच शांति बहाली की संभावना बढ़ सकती है.

मोदी के नेतृत्व में कश्मीर समस्या का हल संभव

विदेशी पत्रकारों के एक ग्रुप के साथ साक्षात्कार के दौरान इमरान ने कहा कि बीजेपी एक दक्षिणपंथी पार्टी है और उसके सत्ता में लौटने पर कश्मीर मुद्दे पर समाधान निकल सकता है.

इसे भी पढ़ेंः आयकर विभाग की कार्रवाई पर चुनाव आयोग सख्तः कहा- आगे से कार्रवाई से पहले सूचित करें

advt

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का कहना है कि भारत में हो रहे लोकसभा चुनाव में अगर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की जीत के बाद नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनते हैं, तो दोनों देशों के बीच शांति बहाली की संभावना ज्यादा बढ़ेगी.

साथ ही कहा कि अगर भारत में कांग्रेस की अगुवाई में अगली सरकार बनती है तो पाकिस्तान के साथ कश्मीर मामले पर वह कमजोर साबित हो सकती है और कश्मीर मुद्दे को हल करने से पीछे हट सकती है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार : 55 उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन, कन्हैया कुमार ने बगूसराय…

अलगाव महसूस कर रहे मुसलमान

हालांकि इस इंटरव्यू के दौरान इमरान खान ने ये भी कहा कि नरेंद्र मोदी के शासन में कश्मीर ही नहीं बल्कि पूरे भारत में मुसलमान बड़े पैमाने पर अलगाव महसूस कर रहे हैं.

adv

क्रिकेट से राजनीति की दूनिया में कदम रखने वाले और पिछले साल अगस्त में पाकिस्तान की सत्ता संभालने वाले इमरान ने कहा कि मैं कभी सोच भी नहीं सकता जो इस वक्त भारत में हो रहा है.

मुस्लिम विचारधारा पर हमले हो रहे हैं. कई साल पहले भारतीय मुस्लिम वहां अपनी स्थिति को लेकर खुश थे. लेकिन आज वे अतिवादी हिंदू राष्ट्रवाद को लेकर चिंतित हैं.

इसे भी पढ़ेंःमुरी में हुए कास्टिक तालाब हादसे के मुख्य सचिव ने दिये जांच के आदेश

इजराइली पीएम से मोदी की तुलना

पत्रकारों से बात करते हुए इमरान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की तरह डर और राष्ट्रवाद का माहौल बनाकर चुनाव जीतने की कोशिश में लगे हैं.

साथ ही बीजेपी के घोषणा पत्र में कश्मीर से 35 A और धारा 370 हटाने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि हो सकता है कि यह चुनाव के कारण हो.

आतंकी गुटों को खत्म करने पर जोर

अपने इंटरव्यू में इमरान खान ने ये भी कहा कि पाकिस्तान अपने देश से सभी आतंकी संगठनों को खत्म करने के लिए प्रतिबध्द है. और सरकार को इसके लिए पाकिस्तानी सेना का भी पूर्ण सहयोग मिल रहा है. साथ ही कहा कि कश्मीर का मसला एक राजनीतिक संघर्ष था और इसका समाधान सैन्य ताकत से नहीं निकाला जा सकता.

ज्ञात हो कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिल पर हमला किया था. जिसमें 40 जवान शहीद हुए थे. इस हमले की जिम्मेवारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.

इसके बाद भारत ने जैश के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान की सीमा में घुसकर एयर स्ट्राइक की थी. और आतंकी ठिकानों को नष्ट किया था.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीह, रांची और जमशेदपुर लोकसभा सीटों पर महतो रूठा तो सबकुछ छूटा

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button