न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीनेट में 21 जनवरी से चलेगा #President_Donald_Trump के खिलाफ महाभियोग, पर ट्रंप को हटाना मुश्किल

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सीनेट में चलाये जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया.

40

Washington :  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ संसद के निचले सदन में चल रही महाभियोग की कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट भेजने के पक्ष में सांसदों ने बुधवार को वोट किया. सत्ता के दुरुपयोग और संसद के काम में अवरोध पैदा करने के आरोप में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग अब सीनेट में चलेगा.

जान लें कि ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सीनेट में चलाये जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया. सीनेट में महाभियोग की कार्यवाही 21 जनवरी से शुरू हो सकती है जिसकी अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस करेंगे.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

ट्रंप पर आरोप हैं कि उन्होंने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में संभावित प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच के लिए यूक्रेन की सरकार पर दबाव बनाया.  बिडेन के बेटे यूक्रेन की एक ऊर्जा कंपनी में बड़े अधिकारी हैं.  ट्रंप और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडीमिर जेलेंस्की के बीच हुई कथित फोन वार्ता महाभियोग के लिए एक अहम सबूत बताया गया है.

438 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स का दबदबा है

खबरों के अनुसार निचले सदन ने सात महाभियोग प्रबंधकों की नियुक्ति की है, जो डेमोक्रेट्स की तरफ से ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाने के लिए बहस करेंगे. इन प्रबंधकों की नियुक्ति निचले सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने की है.  बता दें कि 438 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स का दबदबा है.

सदन ने 18 दिसंबर को ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने की मंजूरी दी थी.  अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप देश के इतिहास के तीसरे ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनके खिलाफ महाभियोग को मंजूरी दी गयी है.

इसे भी पढ़ें :  एस. जयशंकर ने ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ से की मुलाकात, कई पहलुओं पर हुई बातचीत

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

 सीनेट में रिपब्लिकन का दबदबा, ट्रंप को हटाना संभव नहीं

सीनेट में रिपब्लिक सांसदों का नियंत्रण है, ऐसे में इस बात की संभावना बेहद कम है कि ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाया जा सकेगा.  विशेषज्ञों के अनुसार  ट्रंप की सत्ता फिलहाल सुरक्षित रहेगी क्योंकि महाभियोग की प्रक्रिया निचले सदन में पूरी भी होने के बाद भी रिपब्लिकन बहुमत वाली सीनेट से उसका पास होना मुश्किल है. ट्रंप एक ही सूरत में हट सकते हैं, जब कम से कम 20 रिपब्लिकन सांसद उनके खिलाफ विद्रोह का झंडा उठा लें.  लेकिन इसकी गुंजाइश कम ही है.

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस की आपत्ति के बाद संजय राउत ने बदले सुर, कहा- मैनें हमेशा इंदिरा गांधी का सम्मान किया

  ट्रंप की छवि को नुकसान पहुंचाना मकसद

वाइट हाउस ने उम्मीद जताई है कि राष्ट्रपति ट्रंप महाभियोग की प्रक्रिया को आसानी से पार कर ले जायेंगे.  चीन के साथ मंगलवार को ट्रेड डील साइन करते वक्त ट्रंप ने इसे महाभियोग को सिर्फ एक अफवाह करार दिया और कहा कि इसका कोई असर नहीं होगा. ट्रंप के कैंपेन मैनेजर ब्रैड पार्सकल ने कहा कि चुनाव से ठीक पहले यह ट्रंप की राजनीतिक छवि को नुकसान पहुंचाने का एक प्रयास है.

इसे भी पढ़ें :  #NPR के दौरान दस्तावेज या बायोमेट्रिक जानकारी नहीं मांगी जायेगी: गृह मंत्रालय

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like