न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पारा शिक्षकों के आंदोलन से बच्चों की पढ़ाई पर पड़ रहा असर

ग्राम शिक्षा समिति कर रही है प्रयास

40

Dhanbad : पारा शिक्षक अपनी मांगों को लेकर आंदोलन पर जारी रखा है. पढ़ाना बंद कर विद्यालयों में ताला जड़ दिया है. इस कारण सबसे ज्यादा प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को पढाई का नुकसान हुआ है. झारखंड सरकार हड़ताल से निपटने की तैयारी में लगी है. चासनाला कामिनी कल्याण स्थित न्यू प्राथमिक विद्यालय ओझा बस्ती, चासनाला टू विद्यालय सोमवार को बंद था. जिसे देख स्कूल प्रबंध समिति के प्रयास से विद्यालय खुलवाकर बच्चों को विद्यालय बुला पठन-पाठन शुरू किया गया.

बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ न करें

समिति के पदाधिकारियों ने आगे से इस पर ध्यान देने और विद्यालय सुचारू रूप से चलाने, बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ न करने की बात कही. विद्यालय में कुल 77 बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं. परंतु बिना किसी सूचना के विद्यालय सोमवार को बंद होने के कारण मंगलवार को 13 बच्चे ही स्कूल पहुंचे थे. विद्यालय समिति ने बताया कि इस विद्यालय में दो पारा शिक्षक योगिता कुमारी और अंगद कुमार पांडेय हैं.

बीइओ सुरेंद्र हेंब्रम के आदेश पर बरारी कोलियरी के उत्क्रमिक उच्च विद्यालय झरिया टू के मोहन लाल महतो ने बच्चों की क्लास ली. मौके पर समिति की अध्यक्ष झुम्पा देवी, पूर्व अध्यक्ष त्रिलोकी सिंह, रसोइया बुलबुल देवी, निर्मला देवी, सफाई कर्मी सोनी देवी, तनुजा खातून, रेणु देवी, सीता देवी का सराहनीय योगदान रहा.

इसे भी पढ़ेंःसमरेश सिंह की राजनीतिक सल्तनत का नया चेहरा होंगे बेटे संग्राम सिंह, धनबाद लोकसभा क्षेत्र से करेंगे दो-दो हाथ

इसे भी पढ़ें- बकोरिया कांड : सीबीआई ने दर्ज की प्राथमिकी, स्पेशल क्राईम ब्रांच-दिल्ली करेगी जांच

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: