BusinessNational

कोरोना का असर : देश में साइकिलों की बिक्री में अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी, पसंद की साइकिल के लिए करना पड़ रहा है इंतजार

पांच महीनों में साइकिलों की बिक्री 100 प्रतिशत तक बढ़ी है. कई जगह लोगों को अपनी पंसद की साइकिल के लिए इंतजार करना पड़ रहा हैं, बुकिंग करवानी पड़ रही है.  

NewDelhi :  कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर भारत में पिछले पांच माह में साइकिलों की बिक्री लगभग दोगुनी हो गयी है. शायद इतिहास में पहली बार साइकिलों को लेकर ऐसा रुझान देखने को मिला है. इन पांच महीनों में साइकिलों की बिक्री 100 प्रतिशत तक बढ़ी है. कई जगह लोगों को अपनी पसंद की साइकिल के लिए इंतजार करना पड़ रहा हैं, बुकिंग करवानी पड़ रही है.

इसकी एक बड़ी वजह कोरोना महामारी के बाद लोगों का अपनी सेहत को लेकर सजग होना भी है. ऑल इंडिया साइकिल मैन्युफेक्चरर्स एसोसिएशन (एआईसीएमए) के महासचिव केबी ठाकुर कहते हैं कि साइकिलों की मांग में बढ़ोतरी अभूतपूर्व है.

इसे भी पढ़ें : गुजरात : विज्ञापन के विरोध में तनिष्क स्टोर पर गुस्साई भीड़ का हमला, मैनेजर ने माफीनामा लिखा

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा साइकिल विनिर्माता देश है

एक अनुमान के अनुसार भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा साइकिल विनिर्माता देश है. साइकिल विनिर्माताओं के राष्ट्रीय संगठन एआईसीएमए के अनुसार मई से सितंबर 2020 तक पांच महीनों में देश में कुल 41,80,945 साइकिल बिक चुकी हैं.

संगठन ने बताया कि आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के बाद लॉकडाउन के कारण अप्रैल महीने में देश में एक भी साइकिल नहीं बिकी. मई महीने में यह आंकड़ा 4,56,818 रहा. जून में यह संख्या लगभग दोगुनी 8,51,060 हो गयी जबकि सितंबर में देश में एक महीने में 11,21,544 साइकिल बिकीं.

इसे भी पढ़ें : GST compensation के लिए कर्ज लेने पर 20 राज्य सहमत, केंद्र ने दी 68 हजार करोड़  जुटाने को मंजूरी

पांच महीने में कुल मिलाकर 41,80,945 साइकिल बिकी

बीते पांच महीने में कुल मिलाकर 41,80,945 साइकिल बिक चुकी हैं. ठाकुर कहते हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण महामारी ने लोगों को अपनी सेहत व इम्युनिटी को लेकर तो सजग बनाया ही वह सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सचेत हुए हैं.

adv

उन्होंने बताया कि अनलॉक के दौरान सड़कों पर वाहनों की संख्या व प्रदूषण में कमी के कारण भी लोग साइक्लिंग को लेकर प्रोत्साहित हैं. सबसे बड़ी बात यह है कि ज्यादा लोग पहली बार साइकिल खरीद रहे हैं.

जयपुर में आनंद साइकिल स्टोर के गोकुल खत्री कहते हैं कि लॉकडाउन के बाद साइकिलों की बिक्री 15 से लेकर 50 प्रतिशत बढ़ी है. वे कहते हैं कि लोग जरूरी काम निपटाने के साथ साथ वर्जिश के लिहाज से भी साइकिल खरीद रहे हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यह सेहत ठीक रखने का यह सबसे सस्ता, सुंदर व टिकाउ जरिया है.

एक प्रमुख साइकिल कंपनी के प्रवक्ता ने कहा, अनलॉक शुरू होते ही जहां साइकिलों की मांग में उछाल आया, वहीं मांग को पूरा करने के लिए उत्पादन करना मुश्किल हो रहा था. हालांकि बीते पांच महीने में हमने हालात काबू में कर लिये हैं और अब उत्पादन सामान्य स्तर की ओर जा रहा है.

इसे भी पढ़ें :  असम की BJP सरकार बंद करने जा रही सरकारी खर्चे पर चल रहे राज्य के सभी मदरसे, नवंबर में जारी होगी अधिसूचना

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: