Education & Career

कोरोना का असर :  राज्य के सरकारी स्कूलों में व्हाट्स एप ग्रुप बनाकर क्लास की तैयारी, देवघर जिला ने की शुरुआत

Ranchi : लॉकडाउन की अवधि में जहां देश भर की शैक्षणिक संस्थानों ने ऑनलाइन के विभिन्न माध्यमों से पढ़ाई कराने की शुरुआत कर दी है. देश के निजी स्कूलों के साथ-साथ शहर के निजी स्कूल व प्राइवेट शैक्षणिक संस्थानों ने ऑनलाइन क्लासेस लगाना शुरू कर दिया है.

ऐसे में राज्य के सरकारी स्कूल पीछे रहे गये थे. राज्य के 35 हजार स्कूलों में सन्नाटा पसरा हुआ है. बच्चों की पढ़ाई पूरा हो इसके लिए शिक्षा विभाग ने तोड़ निकालते हुए ऑनलाइन पढ़ाई की शुरुआत कर दी है.

राज्य में देवघर पहला जिला है, जिसने इसकी शुरुआत की है. यहां व्हाट्स एप ग्रुप बनाने का काम शुरू कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः बिहार की तरह पर झारखंड में भी कॉमर्शियल वाहनों के टैक्स और परमिट पर मिल सकती है छूट !

कैसे करेगा काम

राज्य शिक्षा परियोजना के अनुसार राज्य स्तर पर शिक्षा विभाग का व्हाट्सएप ग्रुप काम कर रहा है. इसी ग्रुप में राज्य के बीआरपी-सीआरपी को शामिल किया जायेगा. परियोजना की ओर से सभी क्लास का स्टडी मैटेरियल इसी ग्रुप में डाला जायेगा.

इसके अलावा एक ओर व्हाट्स एप ग्रुप बनाया जायेगा, जिसमें सभी स्कूलों के प्राचार्य और शिक्षक शामिल होंगे. अगर कोई ग्रुप पहले से काम कर रहा होगा तो उसमें ही प्राचार्य और शिक्षकों को जोड़ कर ग्रुप का नाम ‘डिजी साथ व संकुल’ रखा जायेगा. इसमें राज्य स्तरीय ग्रुप से आये स्टडी मैटेरियल को डाला जायेगा.

इसके बाद एक ओर ग्रुप स्कूल लेबल पर एक्टिव किया जायेगा. इसमें स्कूल के शिक्षक, प्रभारी प्राचार्य और उस स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के अभिभावक शामिल रहेंगे. सभी स्कूलों के अलग-अलग व्हाट्स ग्रुप में स्टडी मैटेरियल डाला जायेगा. यहीं से बच्चों तक स्टडी मैटेरियल भेज कर पढ़ाई करायी जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः इस वैश्विक महामारी के दौर में भी अमेरिकी राष्ट्रपति की गैर मानवीय नीतियां ही सामने आ रही हैं

अभी क्लास नौ से 12वीं तक ही होगी शुरुआत

इस ऑनलाइन व्हाट्स एप ग्रुप से पढ़ाई कराने की प्रक्रिया के पहले चरण में कक्षा 9 से 12वीं तक की पढ़ाई करायी जायेगी. इन क्लासेस का स्टडी मैटेरियल परियोजना की ओर से तैयार कर लिया गया है. वहीं क्लास एक और दो का अभी एक सप्ताह का ही कंटेट तैयार है.

बाकी क्लासेस का कंटेट तैयार करने का काम शुरू हो चुका है. परियोजना पदाधिकारी के मुताबिक हर दिन दो विषयों की स्टडी मैटेरियल दिया जायेगा. हर क्लास की जानकारी शिक्षकों को अलग से दी जायेगी.

ऑनलाइन क्लासेस चलाने के लिए भारत सरकार के ‘ दीक्षा पोर्टल’ की मदद भी ली जायेगी.

जिलावार शुरू हुई ग्रुप बनाने की प्रक्रिया

शिक्षा सचिव एपी सिंह की ओर से सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को इसकी जानकारी दे दी गयी है. साथ ही इसकी प्रक्रिया जल्द शुरू करने को कहा गया है. वहीं सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू भी कर दी है. रांची जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि रांची जिला में जिला और स्कूल स्तर पर व्हाट्स एप ग्रुप बनाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है.

10 से अधिक स्कूलों ने अपना-अपना व्हाट्सग्रुप बना भी लिया है. गौरतलब हो कि शिक्षा विभाग इस फैसले से राज्य के 35 लाख विद्यार्थियों की पढ़ाई निर्वाध हो जायेगी.

इसे भी पढ़ेंः #Indore: पुलिस कर्मी पर पथराव मामले में पांच गिरफ्तार, दो पर रासुका लगाने की सिफारिश

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close