न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#CAB पर प्रदर्शन का असरः टला जापान के पीएम शिंजो आबे का दौरा, गुवाहाटी में होनेवाली भारत-जापान शिखर वार्ता स्थगित

815

New Delhi: नये नागरिकता कानून को लेकर असम में भारी विरोध प्रदर्शन जारी है. और इस विरोध प्रदर्शन का असर जापान के साथ होनेवाले शिखर वार्ता पर पड़ा है. प्रोटेस्ट के कारण 15-17 दिसंबर को गुवाहाटी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के उनके समकक्ष शिंजो आबे के बीच होने वाली शिखर बैठक को स्थगित कर दिया गया है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि भारत और जापान दोनों ने आगे किसी अनुकूल तारीख तक शिखर बैठक के लिए आबे के दौरे को टालने का फैसला किया है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंः#CitizenShipAmendmentBill के खिलाफ कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दायर की सुप्रीम कोर्ट में याचिका

शिखर सम्मेलन को लेकर एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘जापान के प्रधानमंत्री आबे की भारत यात्रा के संदर्भ में दोनों देशों ने निकट भविष्य में किसी उपयुक्त तारीख तक दौरा टालने का फैसला किया है.’’

असम में कैब का भारी विरोध

नए संशोधित कानून को लेकर असम में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहा है. इस कानून के जरिए बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में यातना के शिकार हुए गैर मुस्लिमों को नागरिकता प्रदान की जानी है.

राजनयिक सूत्रों ने बताया कि जापान सरकार ने नयी दिल्ली को साफ बता दिया कि बड़े स्तर पर हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के मद्देनजर आबे के लिए गुवाहाटी आना संभव नहीं होगा. उन्होंने बताया कि बैठक अगले साल होने की संभावना है.

इसे भी पढ़ेंःRape in India पर हंगामें के बाद #RahulGandhi ने पीएम का पुराना वीडियो शेयर कर कहा- माफी मांगे मोदी

गुवाहाटी में होना था सम्मेलन

विदेश मंत्रालय ने पिछले सप्ताह आबे के दौरे की तारीखों की घोषणा की थी, लेकिन आयोजन स्थल का जिक्र नहीं किया था. हालांकि, शिखर सम्मेलन के लिए गुवाहाटी में जोर शोर से तैयारियां की जा रही थीं.

सूत्रों ने बताया कि जापान की एक टीम ने तैयारियों का जायजा लेने के लिए बुधवार को गुवाहाटी का दौरा किया. जिसके बाद तोक्यो ने विदेश मंत्रालय को बताया कि मौजूदा परिस्थिति में आबे का दौरा नहीं हो सकता.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जापानी प्रधानमंत्री का दौरा टलने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उन्होंने इसे भारत पर धब्बा बताया है.

पिछले साल जापान ने यामांशी में शिखर सम्मेलन का आयोजन किया था. इस दौरान दोनों देशों ने द्विपक्षीय संबंधों को आगे और प्रगाढ़ बनाने का संकल्प लिया था.

इसे भी पढ़ेंः#Forbes ने निर्मला सीतारमण को दुनिया की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं में शामिल किया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like