Crime NewsJamshedpurJharkhand

Illegal sand Trade : बालू माफ‍ियाओं को नहीं देख पाती पुल‍िस की आंखें, तीन थाना क्षेत्रों से गुजरते हैं अवैध बालू से लदे वाहन

Chakradharpur : नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की रोक के वाबजूद गुदड़ी के कमारगांव से  बालू का अवैध कारोबार जारी है. जबकि नदी से मात्र 500 मीटर की दूरी पर गुदड़ी थाना है. इसके बावजूद अवैध बालू कारोबार जारी है. जानकार सूत्र बताते हैं कि गुदड़ी से रोजाना शाम ढलते ही अवैध बालू का कारोबार शुरू हो जाता है. रोजाना कम से कम 30 से 40 ट्रैक्टर और डंपर से अवैध बालू का कारोबार किया जा रहा था. यह तो महज संजोग था कि गुरुवार की रात जब कमारगांव स्थित कारो नदी से अवैध रूप से बालू लाने गए दो ट्रैक्टर को ही पीएलएफआई नक्सलियों ने जलाया. उससे पहले दर्जनों ट्रैक्टर बालू लाने नदी पहुंचा था जो नक्सलियों के पहुंचने से पहले बालू लेकर चला गया था. बताते हैं कि जब पीएलएफआई नक्सली ट्रैक्टर जला रहे थे तभी एक डंपर भी बालू लाने गया था, लेकिन ट्रैक्टर में लगी आग देखकर डंपर चालक तत्‍काल गाड़ी को लेकर वापस भाग निकला. इस वजह से डंपर जलने से बाल-बाल बच गया. सूत्र बताते हैं कि पहले बालू का अवैध कारोबार गोइलकेरा से हो रहा था. वहां के बाद से गुदड़ी से बालू का अवैध कारोबार पिछले दिनों से जारी है. यहां से चक्रधपुर, सोनुवा, लोटापहाड़ आदि जगहों पर बालू आ रहा था.

तीन थाना क्षेत्र से गुजर कर चक्रधपुर पहुंचता है अवैध बालू

बालू माफिया तीन थाना क्षेत्र से गुजर कर चक्रधरपुर बालू लाते हैं. पहले दिन में बालू का अवैध कारोबार होता था लेकिन अब शाम होते ही बालू लाया जाता है. बालू माफिया गुदड़ी थाना के बगल से बालू उठा कर ट्रैक्टर व अन्य वाहन से लाते हैं. यह वाहन सोनुआ होते हुए चक्रधरपुर में प्रवेश करता है. हालांकि, जानकार यह भी बताते हैं कि कुछ बालू माफिया चक्रधरपुर थाना से पहले ही स्टॉक बनाकर बालू का अवैध कारोबार कर रहे हैं.

Catalyst IAS
ram janam hospital

ये भी पढ़ें-Elephant Terror : अब ओडिशा के रास्ते झारखंड में घुसे 34 हाथी, मुसाबनी और चाकुलिया इलाके में दहशत

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button