Crime NewsJharkhandRanchi

रांची-टाटा रोड पर हो रही अवैध वसूली, भाजपा ने प्रशासन से की एक्शन लेने की अपील

Ranchi: रांची टाटा मार्ग में बुंडू के पास गाड़ी वालों से अवैध वसूली की जा रही है. वकील और भाजपा नेता सुधीर श्रीवास्तव ने डीसी रांची और पुलिस प्रशासन से इसे रोकने की अपील की है.

इस संबंध में डीसी को लेटर भी लिखा है. इसमें कहा गया है कि रांची टाटा रोड में तैमारा घाटी के खत्म होते ही वहां पर आम वाहनों से कुछ लोग गाड़ी रोक कर जबरदस्ती 200 से लेकर 400 रुपये तक प्रति वाहन से वसूली कर रहे हैं. बदले में रसीद भी दे रहे हैं.

इस रसीद में लिखा है “एजी सेफ ड्राइव, सेफ लाइफ एंड ट्रैफिक कंट्रोल कैंप”. यह सिलसिला कई दिनों से चल रहा है. इस प्रकार की अवैध वसूली तत्काल बंद की जाये. अगर यह वसूली राज्य सरकार के आदेश से की जा रही है तो पहले उस आदेश की प्रकाशित करके आम जनता को बताया जाये.

ज्ञापन की प्रति एसएसपी, रांची, एसपी (ग्रामीण) डीएसपी बुंडू एवं ट्रैफिक एस पी रांची को भी दी गई है.

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह की पचंबा पुलिस की मौजूदगी में भूमाफियाओं ने की मारपीट

फर्जी रसीद पर वसूली

सुधीर श्रीवास्तव के अनुसार कुछ वाहन चालकों ने रसीद की प्रति वायरल की है. प्रथम दृष्टया ही वह रसीद फर्जी प्रतीत हो रहा है. आम जनता में इसको लेकर भय का माहौल बना हुआ है. इसके बावजूद आम वाहन के चालक डर से चुपचाप पैसा देकर आगे बढ़ जा रहे हैं.

पैसा नहीं देने वालों एवं आनाकानी करने वाले वाहन चालकों का गाड़ी किनारे कर दिया जा रहा है. साथ ही उनको डराया धमकाया भी जा रहा है. कुछ वाहनों में महिलाओं के साथ बदतमीजी की भी सूचना है.

इसके पहले भी इस तरह की अवैध वसूली गिरिडीह के पास रोड में हुई थी. इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों को दी गई थी तब वसूली बंद हुआ था. यह अवैध वसूली का एक नया ट्रेंड झारखंड में बढ़ता जा रहा है.

जब तक उच्चाधिकारियों तक मामला पहुंचता है, तब तक वे लोग लाखों रुपए वसूली कर चुके होते हैं और आम जनता ठगी जा चुकी होती है. परंतु ना तो इसमें कभी प्राथमिकी दर्ज होती है और न ही इसका कोई अनुसंधान या जांच होता है.

पुलिस पदाधिकारी सीधा यह कहते हैं कि कोई शिकायतकर्ता थाना आकर आवेदन नहीं दिया. परंतु इस प्रकार के मामले में कोई वाहन चालक केस करेगा या सीधा वहां से अपने गंतव्य को जाएगा, यह एक बड़ा प्रश्न है.

इसे भी पढ़ें : जामताड़ा : शराब के नशे में पोते ने दादी की पीटकर हत्या की

पुलिस खुद से करे केस

अवैध वसूली वाले मामले में पुलिस खुद केस कर सकती है. जब इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दी जाती है तो कहा जाता है कि ऐसी सूचना आयी थी परंतु अब बंद करा दिया गया है. इससे अवैध वसूली करने वालों के हौसले बुलंद रहते हैं.

इस प्रकार के वसूली करने वालों के खिलाफ रंगदारी का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. जिस थाना क्षेत्र में इस प्रकार की वसूली हो रही है, उस थाना के थाना प्रभारी पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए .

इसे भी पढ़ें : बेटी-नाती के अपहरण की शिकायत लेकर पहुंचे बुजुर्ग दंपती को थाना क्षेत्र में उलझा कर घुमाती रही पुलिस

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: