JharkhandLead NewsRanchi

NGT की रोक के बावजूद जारी है बालू का अवैध ‘बिजनेस’, ग्रामीण हो रहे हेल्पलेस

Ranchi: एनजीटी (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने बारिश के मौसम में नदी किनारे से बालू उठाव पर रोक लगा रखी है. यह आदेश देशभर में लागू है. झारखंड में भी 10 जून से 15 अक्टूबर तक के लिये यह लागू है. पर इसका पालन कागजों पर ही होता दिखता है. राजधानी रांची में ही इसके उदाहरण देखने को मिल रहे हैं. बुंडू प्रखंड के सुमांडी पंचायत के ग्रामीण बालू के अवैध उठाव से त्रस्त हैं. रोज रात को 30 से अधिक हाइवा सुमांडी के सुतिलोंग गांव में दौड़ रही है. गांव में स्थित कांची नदी के किनारे से बालू का अवैध उठाव किया जा रहा है. अब ग्रामीणों ने सरकार से फरियाद लगायी है.

इसे भी पढ़ें : रांची व लातेहार में अब तक स्ट्रीट लाइट के ऑनलाइन ऑन-ऑफ सिस्टम की शुरुआत नहीं

सड़क औऱ रास्ते बदहाल

सुतिलोंग के ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से फरियाद लगायी है. भुवनेश्वर कहते हैं कि एनजीटी के आदेश पर भी गांव में नदी किनारे से बालू का उठाव बंद नहीं हुआ है. अक्टूबर से जून के बीच हर दिन 200 तक हाइवा दिनभर कांची नदी किनारे से बालू का उठाव करते रहते हैं. रात 8-9 बजे से लेकर सुबह 4 बजे तक 20 से अधिक हाइवा को देखा जा सकता है.

Sanjeevani

जुलाई से सितंबर के बीच हम सब उम्मीद लगाते हैं कि हाइवा, ट्रैक्टर से बालू का उठाव बंद होगा पर राहत नहीं है. पिछले 5 सालों से गांव में बालू के लिये दिन-रात दौड़ती गाड़ियों के कारण गांव की सड़कें, रास्ते बदहाल हो चुके हैं. बारिश में भी उठाव करने से समूचा गांव नर्क बन चुका है. बालू माफिया के घरों में भले उल्लास हो, ग्रामीणों में लगातार मायूसी छा रही. थाना से कोई उम्मीद नहीं. अब जिला प्रशासन इस कारोबार को रोकने में गंभीरता दिखाये.

इसे भी पढ़ें : ठेकेदार को गलत तरीके से 27 लाख भुगतान के मामले में अब तक कार्रवाई नहीं

ग्रामीणों से शिकायत का इंतजार

मुखिया प्रतिमा देवी औऱ उनके पति आदित्य मुंडा ने कहा कि सुतिलोंग में हाइवा गाड़ियों के चलने की खबर आ रही है. हालांकि ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज नहीं करायी है. अगर वे अपनी बात रखेंगे तो जिला प्रशासन को जानकारी दी जायेगी.

बुंडू थाना प्रभारी रमेश कुमार कहते हैं कि जिला प्रशासन का आदेश आया है कि बालू के अवैध उठाव से संबंधित मामलों को सीओ, माइनिंग अफसर ही लीड करेंगे. प्राथमिकी भी उनके स्तर से दर्ज होगी. सीओ को थाना के स्तर से दो दिन पहले एक चिट्ठी भेजी गयी है कि जब भी उन्हें बालू उठाव संबंधित मसले पर मैनपावर की जरूरत होगी, थाना तैयार है. फिलहाल डेढ़ महीने के भीतर केस दर्ज किये जा चुके हैं. इस पर इन्वेस्टिगेशन जारी है.

क्या कहता है प्रशासन

बुंडू सीओ रमेश डूंगडूंग ने न्यूज विंग से कहा कि बालू के अवैध उठाव पर प्रशासन एक्शन लेता है. पिछले कुछ दिनों में 3 केस दर्ज किये जा चुके हैं. हाइवा को जब्त भी किया गया है. अब सुतिलोंग गांव का मामला संज्ञान में आया है. प्रशासन इस पर जरूर कदम उठायेगा.

जिला खनन पदाधिकारी सत्यजीत सिंह ने कहा कि 10 जून से 15 अक्टूबर तक बालू उठाव पर रोक है. एनजीटी का इस संबंध में निर्देश है. बुंडू में अगर बालू का अवैध तरीके से उठाव का मामला है तो जिला प्रशासन इस पर वैधानिक एक्शन जरूर लेगा.

इसे भी पढ़ें :46 के हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, प्रधानमंत्री, रघुवर समेत अन्य ने दी बधाई

Related Articles

Back to top button