न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देवघर, दुमका, साहेबगंज और गोड्डा कॉलेजों में हुई अवैध नियुक्ति, वीसी ने दिया कर्मचारियों को निकालने का आदेश

904

Ranchi: सिद्धो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय के तहत आने वाले कॉलेजों में अनुबंध पर कार्यरत शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को हटाया जायेगा. ये ऐसे शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारी हैं, जिनकी नियुक्ति विभिन्न कॉलेजों ने अपने स्तर पर कर ली थी.

सिद्धो कान्हू मुर्मू विवि प्रशासन ने नोटिस जारी करते हुए ऐसे कर्मचारियों के वेतन भुगतान को रोकने को कहा है. ऐसे शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की संख्या डेढ़ सौ से अधिक है.

इसे भी पढ़ेंःपूर्व मंत्री एनोस एक्का के आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI की विशेष अदालत का फैसला 25 को

क्या है मामला

सिद्धो कान्हू मुर्मू विवि के विभिन्न कॉलेजों में प्राचार्य स्तर पर कर्मचारियों की नियुक्ति की गयी थी. नियम के मुताबिक, नियुक्ति की प्रक्रिया को यूनिवर्सिटी के वीसी और प्राधिकृत समिति की ओर से मान्यता लेनी होती है. लेकिन सिद्धो कान्हू मुर्मू विवि में जो नियुक्तियां हुई हैं, उन नियुक्तियों को प्राधिकृत समिति की मान्यता नहीं मिली है. इस वजह से जो नियुक्तियां हुई हैं, वह अवैध हैं.

अवैध नियुक्त कर्मचारियों की मांगी सूची

इस मामले पर संज्ञान में लेते हुए वीसी मनोरंजन प्रसाद सिन्हा ने सभी कॉलेजों के प्राचार्य और प्रोफेसर इंचार्ज को आदेश दिया है कि ऐसे सभी कार्यरत लोगों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया जाये. वहीं वीसी के आदेश के अनुसार, रजिस्ट्रार ध्रुव नारायण सिंह ने सभी कॉलेजों को पत्र लिखा है.

Whmart 3/3 – 2/4

इस पत्र में उन्होंने कहा है कि प्राधिकृत समिति की अनुमति के बिना की गयी सभी नियुक्ति अवैध हैं. ऐसे कर्मचारियों को किसी तरह का भुगतान नहीं किया जायेगा. रजिस्ट्रार ने सभी कॉलेजों के प्राचार्य को एक सप्ताह के भीतर गलत तरीके से नियुक्त शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की सूची देने को कहा है.

साथ ही यह भी कहा है कि जो कॉलेज प्राचार्य या प्रोफेसर इंचार्ज ऐसे शिक्षक और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की सूची उपलब्ध नहीं करायें, उनका वेतन रोक दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःबाबूलाल मरांडी बने बीजेपी के विधायक दल के नेता, सदन में होंगे नेता प्रतिपक्ष

ऐसे संज्ञान में आया मामला

इस अवैध नियुक्ति का मामला तब प्रकाश में आया, जब दुमका के एसपी महिला कॉलेज की प्राचार्या डॉ पुष्पा रानी प्रसाद ने विवि से मानदेय भुगतान को लेकर राशि आवंटित करने की मांग की. आवंटन की जांच के बाद मामले की जानकारी वीसी को मिली.

तब उन्होंने अवैध तरीके से नियुक्त कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश निकाला. इस कॉलेज में चार शिक्षक इसी प्रक्रिया के तहत नियुक्त हैं. गौरतलब है कि देवघर, दुमका, साहेबगंज और गोड्डा कॉलेजों में ऐसी नियुक्ति का मामला सबसे ज्यादा है. देवघर के एएस कॉलेज में 2012-13 से शैक्षणिक कार्य के लिए 21 और गैर शैक्षणिक कार्य के लिए 13 कर्मी कार्यरत हैं.

इसे भी पढ़ेंःप्रभुनाथ सिंह की सजा पर फैसला टला, विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में 3 मार्च को HC का आयेगा निर्णय

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like