DhanbadSci & Tech

IIT धनबाद के छात्रों ने बताया- भविष्य में रोबोट कैसे करेगा कोयले की ढुलाई

Dhanabad: आइआइटी के माइनिंग इंजीनियरिंग विभाग में दो दिनों से चल रहे खनन फेस्ट का समापन रविवार की देर रात को हुआ. फेस्ट खनन में देश–विदेश के 900 भावी इंजीनियरों ने हिस्सा लिया. सभी टीमों ने भविष्य में होने वाले कोयला खनन पर अपने प्रोजेक्ट बनाये.

आइआइटी धनबाद के छात्रों ने एक रोबोट बनाकर दिखाया. जिसने बताया कि भविष्य में कोयला का खनन कैसे होगा. इस प्रोजेक्ट ने विशेषज्ञों को काफी आकर्षित किया और उन्होंने इसके लिए आइआइटी धनबाद के छात्रों को प्रथम पुरस्कार दिया.

इसे भी पढ़ेंः#EconomicSlowDown खस्ता हाल ऑटो सेक्टर को राहत देने में सरकार पर पड़ेगा 30 हजार करोड़ का भार

advt

फेस्ट खनन का आयोजन दो दिनों तक चला. शनिवार से शुरू हुए कार्यक्रम का समापन रविवार को देर रात किया गया. दो दिनों में 12 इवेंट किये गये. जिसमें इंडस्ट्रियल डिजायन प्रॉब्लम, रॉक बैंड मंथन, खनन माफिया और रोबोटिक्स ने लोगों को अधिक आकर्षित किया.

फेस्ट खनन में देश-विदेश की 50 टीमों ने हिस्सा लिया. जिसमें धनबाद आइआइटी का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा और इसे ओवरऑल चैंपियन के खिताब से नवाजा गया.

कई बाधाओं को पार कर रोबोट ने की कोयले की ढुलाई

आइआइटी धनबाद के छात्रों ने रोबोट की अनुकृति के जरिये यह बताया कि भविष्य में कोयले की ढुलाई कैसे की जा सकती है. इस रोबोट की राह में कई बाधाएं खड़ी की गयी थी. कहीं चट्टान खड़े किये गये थे, तो कहीं पेड़–पौधे रोबोट की राह में रुकावटें डाल रहे थे.

रोबोट ने इन बाधाओं को कुशलता से पार किया. इसके बाद रोबोट को चुनौती देने के लिए कोयला माफिया को खड़ा किया गया. रोबोट ने कोयला माफिया को साइड कर कोयला को गंतव्य तक पहुंचाने का काम किया.

आइआइटी धनबाद के इस प्रोजेक्ट को काफी सराहना मिली. विजेता टीम को आइआइटी आइएसएम के निदेशक राजीव शेखर ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया.

इसे भी पढ़ेंःगिरिडीहः रिटायर्ड सीआइ की गोली मारकर हत्या, अवैध संबंध में मर्डर की आशंका

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: