JharkhandLead NewsNEWSRanchi

IIM Ranchi:  लड़कियों के छात्रावास का काम अधूरा, क्लासेज नये और पुराने भवनों में चलेंगे

प्रशासनिक कार्य नये भवन में शिफ्ट, फैकल्टी के कमरे भी तैयार

Ad
advt

Ranchi: IIM Ranchi के नये भवन का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चला है. कुल 13 भवनों में 8 भवनों का काम खत्म हो गया है. संस्थान का कुछ विंग जैसे प्रशासनिक, फैकल्टी व स्टाफ के क्वार्टर में लोग शिफ्ट होने लगे हैं. लेकिन, अभी भी काम बाकी हैं. लड़कों का छात्रावास बन गया है पर लड़कियों के छात्रावास का काम शेष है. जिस कारण संस्थान पूरी तरह से शिफ्ट नहीं हो पाया है. इस बारे संस्थान के निदेशक प्रो शैलेंद्र सिंह कहते हैं कि चूंकि, छात्रावास का काम अधूरा है और कई भवनों का काम चल रहा है, इस वजह से कोर्सेज नये भवन और सूचना भवन में संचालित किये जायेंगे. खेलगांव वाले छात्रावास में भी लड़कियां रहेंगी.

जो भवन बनकर तैयार हो चुके हैं

-10 क्लासरूम

advt

-डायरेक्टर रूम

-एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग

advt

-डायनिंग हॉल

-छोटे-छोटे क्लास रूम

-फैकल्टी क्वार्टर

-छात्रावास(लड़कों का)

 

सूचना भवन में चल रहा आईआईएम रांची

राज्य सरकार के सूचना भवन में आईआईएम रांची की कक्षाएं चल रही हैं. सूचना भवन के दो फ्लोर पर कक्षाएं, प्रशासनिक भवन हैं. राज्य सरकार की तरफ से संस्थान में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के लिए खेलगांव परिसर में छात्रावास की सुविधा भी दी गयी है. अभी कांके रोड के एक किराये के मकान में आईआईएम की अस्थायी कक्षाएं भी संचालित की जा रही हैं. आईआईएम रांची में पीजी डिप्लोमा इन ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट मैनेजमेंट (पीजीडीएचआरएम), पीजी डिप्लोमा इन मार्केटिंग मैनेजमेंट (पीजीडीएम) और एग्जीक्यूटिव स्तर के पाठ्यक्रम और शोध से जुड़े कोर्स संचालित किये जा रहे हैं.

 

भवनों का विवरण इस प्रकार है

प्रशासनिक भवन 3000 वर्ग मीटर

स्टूडेंट्स छात्रावास 18000 वर्ग मीटर

स्टूडेंट्स डायनिंग हॉल 2000 वर्ग मीटर

स्टाफ डायनिंग हॉल 2500 वर्ग मीटर

फैकल्टी ब्लॉक 3000 वर्ग मीटर

लाइब्रेरी 6000 वर्ग मीटर

प्रशासनिक भवन 4000 वर्ग मीटर

कंप्यूटर लैब 6000 वर्ग मीटर

सब स्टेशन का निर्माण 8000 वर्ग मीटर

फैकल्टी रेसीडेंस 8000 वर्ग मीटर

स्टाफ क्वार्टर (ब्लाक-ए) 1500 वर्ग मीटर

स्टाफ क्वार्टर (ब्लाक-सी) 1000 वर्ग मीटर

फर्स्ट फेज (निर्माण कार्य) 61800 वर्ग मीटर

 

चेड़ी गांव में भारी विरोध का सामना करना पड़ा था

IIM रांची की स्थापना देश के नवें IIM के रूप में वर्ष 2010 में की गयी थी और उसे रांची से कुछ दूर नगड़ी इलाके में परिसर बनाने के लिए भूमि आवंटित की गयी थी. यह जमीन राज्यपाल की परामर्शदात्री समिति ने दी थी. IIM को रांची में कांके ब्लाक में चेड़ी गांव में 90 एकड़ भूमि दी गई थी लेकिन, स्थानीय स्तर पर विरोध के कारण जमीन नहीं दिया जा सका था. इस वजह से सरकार को यहां आईआईएम कैंपस खोलने का फैसला वापस लेना पड़ा. वहां चहारदीवारी का निर्माण भी कराया गया था. इस कार्य में लगभग 70 लाख रुपये खर्च हो चुके थे. तत्कालीन केंद्रीय शिक्षा मंत्री एम पल्लम राजू ने शिलान्यास भी किया था.

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: