न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

न्यूज विंग ब्रेकिंग: निगरानी की जद में आये सात लाख का बैलून उड़ाने वाले IFS अफसर

3,403
  • ब्रेकफास्ट पैकेट में खर्च किया 5.90 लाख, टेबल, लेदर सोफा, टेबल क्लोथ, पाम ट्री पोट व वीआइपी टेबल पर खर्च 5.60 लाख
  • हरियाली शपथ पत्र और प्रिंटिंग मैगजीन पर खर्च कर दिये 6.66 लाख
  • अगली किश्त में पढ़े कैसे ब्रेकफास्ट, डीनर और लंच में उड़े पैसे

RAVI  ADITYA

RANCHI: राजधानी के खेल गांव में आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस (पांच जून) को आइएफएस अफसरों ने कार्यक्रम स्थल को 6.60 लाख खर्च कर बैलून से सजाया. यही नहीं 20000 खर्च कर गैस बैलून उड़ाया. इस आयोजन में सरकारी राशि का जमकर दुरुपयोग हुआ. इस मामले को लोकायुक्त ने गंभीरता से लिया है. पूरे मामले की निगरानी जांच का आदेश दिया गया है. इसमें प्रधान मुख्य वन संरक्षक संजय कुमार, सहित अन्य अफसरों पर गाज गिर सकती है. इस आयोजन में कुल 1.52 करोड़ रुपये खर्च किये गये. हर साल विश्व पर्यावरण दिवस का आयोजन पांच जून को होता है. इसमें झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा न्यूनतम 10 से अधिकतम 20 लाख रुपये तक का खर्च किया जाता रहा है.

ब्रेक फास्ट, लंच और डिनर में उड़ गये 34.30 लाख

खेल गांव में आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस में ब्रेक फास्ट, लंच और डीनर के मद में 3430950 रुपये खर्च कर दिये गये. अफसरों ने सिर्फ चाय और बिस्किट में लगभग ढ़ाई लाख रुपये खर्च किये. कार्यक्रम के आयोजन से पहले 21 मई को विभिन्न उद्योगों एवं प्रयोक्ता अभिकरणों के प्रतिनिधियों को बुलाया और प्रस्तावित आइटमों पर संभावित खर्च वहन करने के लिए कहा गया.

बिना प्राक्कलन के किया गया खर्च

कार्यक्रम में होने वाले खर्च का कोई प्राक्कलन भी नहीं बना था. और न ही कोई योजना सरकार से स्वीकृत करायी गयी थी. आइएफएस अफसरों ने बिना किसी प्राक्कलन के स्वयं ही खर्च करने का निर्णय ले लिया और कार्यवाही में राशि अंकित कर दी.

किस मद में कितना खर्च किया गया-

  • फेब्रिकेशन व प्रिंटिंग व फ्लैक्स डिस्प्ले: 2309840 रुपये
  • स्टेज, राइसर व पोडियम- 3653070 रुपये
  • वोलेंटियर: 161900 रुपये
  • लेज साउंड व कल्चरल प्रोग्राम: 483800 रुपये
  • बैलून व फूल डेकोरेशन: 918748 रुपये
  • प्रतिभागियों पर खर्च: 88200 रुपये
  • कोऑर्डिनेशन चार्ज: 32000 रुपये
  • जूट झोला व नोट बुक: 370143.82 रुपये
  • किताब प्रिंटिंग व बाइंडिंग: 20000 रुपये
  • कॉफी-टेबल बुक: 81940 रुपये
  • लंच डिनर व ब्रेकफास्ट: 3430950 रुपये
  • डॉक्यूमेंटरी फिल्म: 1416000 रुपये
  • प्रोग्राम होस्टिंग: 36000 रुपये
  • हरियाली शपथ पत्र व प्रिंटिंग मैगजीन: 666066 रुपये
  • एंकरिंग: 6500 रुपये
  • फ्लैग व बैनर: 1429000 रुपये
  • लॉ यूनिवर्सिटी: 90000 रुपये

कार्यक्रम के लिए वन विभाग ने इन एजेंसियों से लिये इतने पैसे-

  • झारखंड राज्य वन विकास निगम: 20 लाख रुपये
  • झारपार्कः 1548750 रुपये
  • जैव विविधता पर्षदः 20 लाख रुपये
  • झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डः 25 लाख रुपये
  • वन संरक्षक, प्रादेशिक अंचलः 7145407
  • कुल खर्च: 15194157.82 रुपये

इसे भी पढ़ेंः कोर्ट से फरार कैदी को रांची पुलिस ने किया पटना से गिरफ्तार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: