न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यदि ढाई लाख का है सालाना कारोबार तो बनाना होगा पैन कार्ड, देना पड़ेगा रिटर्न

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने की तब्दीली

eidbanner
48

Ranchi: केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीडीबीटी) ने अब छोटे कारोबारियों, व्यावसायियों को भी आय कर के दायरे में लाने की पहल शुरू कर दी है. पांच दिसंबर से सीडीबीटी ने आयकर अधिनियम 1961 में की गयी तब्दीलियों को लागू करने की तिथि तय की है. यानी अब महीने का 20 हजार से कुछ अधिक का कारोबार करनेवालों को भी परमानेंट एकाउंट नंबर (पैन) के जरिये ब्योरा देना होगा. इनकम टैक्स (12वें संशोधन) रूल्स 2018 में कर चोरी रोकने के प्रावधान के तहत ऐसा किया गया है. जिस छोटे व्यापारी का वार्षिक कारोबार 2.50 लाख रुपये या इससे अधिक है. अब उन्हें पैन कार्ड के जरिये अपनी व्यावसायिक गतिविधियों का ब्योरा देना होगा. इसमें कुल टर्न ओवर अथवा ग्रॉस इनकम को शामिल किया गया है. केंद्र सरकार का मानना है कि आइटी एक्ट की धारा 139 ए में किये गये बदलाव से और राजस्व वसूली बढ़ेगी.

पैन कार्ड में पिता का नाम जरूरी, सिंगल मदर पेरेंट का नाम भी होगा दर्ज

आय कर एक्ट में हुए बदलाव से अब पैन कार्ड में पिता का नाम अनिवार्य कर दिया गया है. इसमें यह भी प्रावधान किया गया है कि यदि सिंगल पेरेंट मां (मदर) है, तो अभ्यर्थी पैन कार्ड में अपनी मां का नाम अंकित करायेंगे. सभी करदाताओं से कहा गया है कि जिन आवेदकों ने मई 2018 के पहले पैन कार्ड बनाने का आवेदन दिया था, उनके कार्ड में पिता का नाम अंकित किया जायेगा.

Related Posts

मोदी की सत्ता के पांच साल, शेयर बाजार निवेशकों की पूंजी 75 लाख करोड़ रुपये बढ़ी  

शेयर बाजार के 16 मई, 2014 से 23 मई, 2019 की तारीख तक के विश्लेषण से  पता चलता है कि इस दौरान बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 60.89 प्रतिशत या 14,689.65 अंक चढ़ा है

इसे भी पढ़ें – विदिशा हत्याकांड की गुत्थी तो सुलझ नहीं सकी, अब इंसाफ मांगनेवाली छह महिलाओं को ही भेज दिया गया नोटिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: