Crime NewsJharkhandKhas-KhabarLead NewsRanchi

…अपना ही सिक्का खोटा है तो क्या करेंगे बड़े साहब

पुलिस के बनते-बिगड़ते आचरण से आलाअधिकारी परेशान

Ranchi: झारखण्ड पुलिस के कनीय पुलिस कर्मियों के व्यवहार से झारखण्ड पुलिस की छवि खराब हो रही है. पुलिस के आला अधिकारियों ने सख्त अंदाज में अपने पुलिस कर्मियों को चेताया था कि पद का दुरुपयोग न करें. ऐसा कुछ भी न करें, जिससे पुलिस की छवि धूमिल हो, लेकिन ऐसे पुलिस कर्मियों पर वरीय पुलिस अधिकारियों की चेतावनी का कोई असर नहीं दिख रहा है.

पुलिस के बारे में आमतौर पर लोगों की धारणा बनती-बिगड़ती रहती है. कोरोना महामारी के दौरान पुलिस की छवि बेहद लोकप्रिय और विश्वसनीय बनकर उभरी और पुख्ता हुई. लेकिन हाल ही में खाकी वर्दी की दो घटनाओं ने फिर से पुलिस के व्यवहार पर सवाल खड़ा कर दिया है.

इसे भी पढ़ें:साजिश का खुलासा : खालिस्तानी समर्थक संगठन ने उपलब्ध कराया था ग्रेटा थनबर्ग की ओर से शेयर किया टूलकिट

ram janam hospital
Catalyst IAS

केस 1 –थानेदार का बर्ताव सुनकर भड़क गए थे एसएसपी

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

रांची के मनोज मिश्रा ने गोंदा थाना क्षेत्र के रहने वाले संजय मिश्रा को 11 लाख रुपए चेक के माध्यम से दिया था, लेकिन संजय ने तो उन्हें जमीन दी और न ही पैसे ही लौटाये मांगने पर संजय उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी.

यही शिकायत लेकर वह गोंदा थानेदार से दो दिन पहले मिले थे. जब उनकी शिकायत दर्ज नहीं की गई तब मनोज गुरुवार को सीधे एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा से मिले. उन्हें मामले की पूरी जानकारी दी. गोंदा थाना प्रभारी ने पीड़ित से कहा हम तुम्हारे लिए यहां बैठे हुए हैं. हमारा यही काम बचा हुआ है… तुम्हारी जमीन की ठगी हुई है तो हम क्या करें… हमसे पूछकर पैसा दिए थे, जो हम दिलाएंगे. चलो यहां से भागो, कोई शिकायत दर्ज नहीं होगी.

थानेदार ने कांके अरसंडे निवासी मनोज मिश्र को थाने से भगा दिया. यह शिकायत जब एसएसपी के पास पहुंची तो वे भड़क गए. उन्होंने फोन कर थानेदार को फटकार लगायी. कहा- क्या इसी तरह से लोगों से बात की जाती है. तुरंत शिकायत दर्ज करें. एसएसपी के हस्तक्षेप के बाद थानेदार ने मनोज की शिकायत दर्ज की.

इसे भी पढ़ें:हाफिज उल हसन बने हेमंत सरकार में मंत्री, राजभवन में ली शपथ

केस 2 –लड़की की मां ने चंदा देकर पुलिस को किराए की गाड़ी उपलब्ध करायी

रांची के पंडरा ओपी क्षेत्र से नौ दिन से लापता नाबालिग लड़की को रांची पुलिस ने बरामद कर लिया है. पुलिस ने उसे बिहार के मुजफ्फरपुर के शनिचरवा गांव से बरामद किया है. पंडरा थाना प्रभारी पर इस मामले आरोप लगा है कि उन्होंने मुजफ्फरपुर जाने के लिए लड़की के परिजनों से गाड़ी का किराया मांगा था. लड़की की मां ने चंदा देकर पुलिस को किराए की गाड़ी उपलब्ध कराई है. हालांकि पंडरा थाना प्रभारी ने इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है.

थाना प्रभारी ने कहा कि पुलिस अपने खर्च से मुजफ्फरपुर गई है. रांची पुलिस का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है. आरोप सही मिलने पर थाना प्रभारी पर कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ें:सूबे के जनजातीय बच्चों को मिलेगी पांच जनजातीय भाषाओं की डिक्शनरी

Related Articles

Back to top button