Crime NewsJharkhandRanchi

पुना में काम नहीं मिला तो तीन महीने पैदल चलकर लौटा गांव, गुस्से में पुना ले जाने वाले युवक के पिता को मार डाला

Khunti: एक 68 वर्षीय वृद्ध की हत्या महज इसलिए कर दी गयी कि उसका बेटा उसे काम दिलाने पुना तो ले गया पर वहां काम नहीं दिला पाया. पुना से तीन महीने तक पैदल चलकर घर लौटकर आने वाले धुरचू मुंडा ने 68 वर्षीय झगडू मुंडा की हत्या कर दी.

घटना रनिया थाना क्षेत्र के गोइलकेरा गांव की है, जहां खेत में काम कर रहे झगड़ू की हत्या कर दी गयी. पुलिस ने हत्या के आरोपित धुरचू मुंडा को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया. शनिवार को ही शव का सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया.

इसे भी पढ़ें: विराट की मुश्किलें बढ़ीं, द्रविड़ नहीं बल्कि ये पूर्व दिग्गज होंगे टीम इंडिया के अगले मुख्य कोच

advt

जानकारी के अनुसार, झगड़ू का बेटा बिरसा मुंडा महाराष्ट्र के पुना में काम करता था. चार महीने पहले बिरसा अपने गांव आया था और धुरचू को काम दिलाने के नाम पर पुना ले गया, लेकिन धुरचू को वहां कोई काम नहीं मिला. कुछ दिनों के बाद धुरचू के पैसे खत्म हो गये और उसे खाने तक के लाले पड़ गये. अंतत: वह पैदल ही अपने घर के लिए निकल गया.

तीन महीनों तक पैदल चलकर वह कुछ दिन पहले ही गांव पहुंचा था. काम नहीं मिलने को लेकर धुरचू और बिरसा के पिता झगड़ू के वाद विवाद होता रहता था. झगड़ू अपने खेत में काम कर रहा था. उसी समय धुरचू वहां पहुंचा और पीछे से धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के खिलाफ वार लड़नेवाले कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद छोड़ी थी कांग्रेस

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: