BiharLead News

IAS की FIR नहीं हुई तो बिगड़े जीतन राम मांझी, सरकार से पूछे सवाल

Patna: हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी एक बार फिर से चर्चा में है जीतन राम मांझी हमेशा अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं एक बार फिर से जीतन राम मांझी के बयान ने सियासत को गरमा दिया है.
ताजा मामला बिहार के सीनियर आईएएस अधिकारी सुधीर कुमार का एफआईआर दर्ज नहीं होने का है. सुधीर कुमार घंटों खड़े रहे बावजूद इसके एससी एसटी थाने में उनका एफआईआर दर्ज नहीं किया गया जिसके बाद कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : नगर विकास के 12 पदाधिकारियों का स्थानांतरण व पदस्थापन

सुधीर कुमार द्वारा दिए गए आवेदन के 3 दिन बीत जाने के बाद भी आवेदन दर्ज नहीं किया गया ऐसे में जीतन राम मांझी सुधीर कुमार के समर्थन में उतर गए हैं मांझी ने कहा कि चाहे दलित हो या कोई सामान्य व्यक्ति अपनी समस्याओं को लेकर थाने में जाता है तो मामला दर्ज होना ही चाहिए, जांच के बाद पता चलेगा कि मामला सही है या गलत लेकिन एफआईआर दर्ज नहीं करना बेहद खेदजनक है. जीतन राम मांझी ने कहा कि हर व्यक्ति का एफआईआर दर्ज करना थाने का फर्ज है.

आपको बता दें कि इससे पहले भी सुधीर कुमार के एफआईआर दर्ज नहीं होने पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए थे तेजस्वी ने अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा था कि अधिकारियों को बचाने की कोशिश की जा रही है और अब जीतन राम मांझी सुधीर कुमार के समर्थन में उतरे हैं और उन्होंने साफ कर दिया है कि जिस प्रकार सुधीर कुमार के साथ है व्यवहार किया जा रहा है वह सरासर गलत है.

advt

इसे भी पढ़ें : BBKMU : पहला दीक्षांत समारोह कल, खादी बंडी के साथ गाउन और गांधी टोपी में स्टूडेंट्स लेंगे डिग्री

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: