Crime NewsJharkhandLead NewsRanchi

अगर मोबाइल पर दिखे सर्वर नॉट फाउंड तो हो जाएं अलर्ट, आपके बैंक खाते हो सकते हैं खाली

Ranchi : शहर में साइबर अपराध की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं. साइबर अपराधी आपके बैंक खातों से पैसा उड़ाने के लिए तरह- तरह के हथकंडे अपना रहे हैं. यदि आपका मोबाइल नंबर आपके बैंक खाता से लिंक है तो आपका बैंक खाता हैक होते समय में आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा और ओटीपी इंटर करते ही आपके मोबाइल स्क्रीन पर सर्वर नॉट फाउंड दिखाई दे आपको सावधान होने की जरूरत है. आपको तुरंत अपने बैंक में जाकर संपर्क कर जानकारी हासिल करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : अभी 6 दिनों तक राजधानी रांची व आसपास के क्षेत्रों में होती रहेगी बारिश

अपना सर्वर सेट कर देते हैं साइबर क्रिमिनल्स

साइबर डीएसपी यशोधरा ने बताया कि साइबर क्रिमिनल कई तरीकों से आपके बैंक एकाउंट और ईमेल हैक कर सकते हैं. साइबर क्रिमिनल आपके और आपकी क्लाइंट के ईमेल कम्युनिकेशन के बीच में अपना सर्वर सेट कर देते हैं. जिससे आपके ईमेल के द्वारा जा रही सारी जानकारी उनके सर्वर से होकर गुजरती है. जिसके बारे में उन्हें जानकारी मिल जाती है. वो इस जानकारी को अपने मुताबिक बदल भी सकते हैं. जैसे कंपनी ने अपने किसी क्लाइंट को ई-मेल से पैसे डालने के लिए बैंक अकाउंट नंबर भेजा. ये लोग उस जानकारी को बदलकर खुद का बैंक अकाउंट आगे भेज देते हैं. जिससे पैसे इनके बैंक खाते में आ जाएंगे.

advt

इसे भी पढ़ें : बिहार के बाहुबली पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में किया बरी

ऐसे करते हैं ठगी

साइबर डीसीपी यशोधरा ने कहा कि हैकर कंपनी की ईमेल आईडी को हैक कर लेते हैं और क्लाइंट को अपनी तरफ से मेल और मैसेज भी भेजते हैं. इन मेल्स को भेजने के बाद सेंट मेल बॉक्स में से डिलीट कर देते हैं. जिससे कंपनी को भेजे गए ईमेल के बारे में पता नहीं चलता और साइबर क्रिमिनल ठगी करने में कामयाब हो जाते हैं.

adv

इसे भी पढ़ें : 6 th JPSC : सरकार के पक्ष के बाद भी आयोग के लिए आसान नहीं नयी मेरिट लिस्ट

ईमेल आईडी कर लेते हैं हैक

ईमेल हैक होने का सबसे बड़ा कारण ये है कि आप या फिर कंपनियां ईमेल की सिक्योरिटी पर ज्यादा ध्यान नहीं देते. आपको बता दें कि हर दिन कोई ना कोई साइबर अपराध का मामला सुनने को मिल जाता है. इसके बाद भी लोग लापरवाही बरतते हैं. अपनी ईमेल और जानकारियों को सुरक्षित रखने के लिए जरूरी कदम नहीं उठाए जाते.
साइबर डीएसपी यशोधरा ने बताया कि ईमेल का एक्सेस कई लोगों के पास होता है. ऐसे में ईमेल आईडी का हैक हो जाना बड़ी बात नहीं है. कंपनियां जिस तरह से दूसरे डिपार्टमेंट पर ध्यान देती है. उसी तरह से साइबर सिक्योरिटी पर भी उन्हें ध्यान देना चाहिए.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: