न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्सली चुनौती देंगे तो पाताल से भी खोज कर मारेंगे, भटके हुए युवा करें समर्पणः सीएम

किसी भी व्यक्ति की जमीन कोई नहीं छीन सकता, साढ़े चार साल में सरकार ने लोगों का जीता है विश्वास

298

Ranchi: मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि अगर नक्सली लोकतंत्र को चुनौती देंगे और बंदूक की नोक पर व्यवस्था बदलना चाहेंगे तो सरकार पाताल से भी ढूंढ़ कर मारेगी. झारखंड में उग्रवाद अब अंतिम सांसें गिन रहा है. यह बेहतर पुलिस प्रशासन की वज़ह से संभव हुआ है, जिन्होंने अपनी जान की बाज़ी लगा कर उग्रवादियों की कमर तोड़ दी. 2014 से पूर्व राज्य में उग्रवाद की क्या स्थिति थी यह सर्वविदित है.

2014 के बाद उग्रवादी घटना में कमी आयी है. छिटपुट घटनाएं हुई हैं, लेकिन उनपर भी विराम लगेगा. सरकार की उस पर नज़र है. सीएम सोमवार को दुमका में मीडिया से बातचीत कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें – मानदेय नहीं मिलने से परेशान पारा शिक्षक ने की आत्मदाह की कोशिश, डीसी ऑफिस के सामने हंगामा 

जहां कभी उग्रवाद था, आज वहां विकास नज़र आ रहा

विकास से लोहरदगा का पेशरार, लातेहार का सरजू और चाईबासा के गुदड़ी की फिजां बदल गयी है. जहां कभी उग्रवाद था, आज वहां विकास नज़र आ रहा है. सरकार का मानना है विकास सभी समस्याओं का समाधान है.  भटके हुए युवा समर्पण करें. व्यवस्था में अगर आप बदलाव चाहते हैं तो बंदूक की नोक पर व्यवस्था में बदलाव नहीं आ सकता.

इसे भी पढ़ें – बादल गरजते ही आधी रात से प्रदेश में गुल हुई बिजली, 303 मेगावाट की कमी

किसी भी व्यक्ति की जमीन कोई नहीं छीन सकता

लोगों में ऐसी अफवाह फैलायी गयी कि सरकार आपकी जमीन छीन लेगी. लेकिन पिछले साढ़े चार साल में सरकार ने लोगों का विश्वास जीतने का कार्य किया है. किसी भी व्यक्ति की जमीन कोई नहीं छीन सकता. ग्रामीण जीवनस्तर में सुधार के लिए हम प्रयासरत हैं. अब गांवों में भी शहरों की तरह रोशनी, पेयजल, सड़क इत्यादि सुविधाएं रहेंगी. यहां रोजगार के नये अवसर प्रदान करेंगे. जिससे पलायन भी रुकेगा.

इसे भी पढ़ें – आर्थिक सुस्ती के खिलाफ मोदी सरकार को उठाने होंगे बड़े कदम

Related Posts

नहीं थम रहा #Mob का खूनी खेलः बच्चा चोरी के शक में तोड़ रहे कानून, कहीं महिला-कहीं विक्षिप्त की पिटायी

बच्चा चोरी की बात महज अफवाह, अफवाह से बचें और सावधानी और सतर्कता रखें

संथाल में विकास की नयी लकीर खींची

पिछले साढ़े चार वर्षों में सरकार ने संथाल परगना में विकास की एक नयी लकीर खींची है. सभी क्षेत्रों में कार्य हो रहे हैं. आदिवासी समाज के लोग हर क्षेत्र में आगे बढ़ें, इस दिशा में सरकार निरंतर कार्य कर रही है. अगर पिछले 70 वर्षों में आदिवासी समाज के एक-एक गांव को विकास के पथ पर लाया जाता तो आज तस्वीर कुछ और होती. लेकिन आदिवासी समाज के लोगों को बहला फुसला कर ठगने का कार्य कुछ विकास विरोधी शक्तियों द्वारा किया गया. वर्तमान सरकार आदिवासी समाज व झारखंड के लोगों को हित में काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें – ‘एक बूथ, 25 यूथ’ थ्योरी के साथ आगे बढ़ेगी आजसू, विधानसभा चुनाव में 30 सीटों पर ठोंक सकती है दावा

प्रदेश की जनता को निर्बाध बिजली मिलेगी

पिछले 70 वर्षों में 38 लाख घरों में ही बिजली पहुंची थी. लेकिन साढ़े चार वर्षों में 30 लाख घरों में बिजली पहुंचा दी गयी. सरकार ने 117 ग्रिड तथा 217 सब स्टेशन बनाने का कार्य किया है. बहुत जल्द झारखंड की जनता को निर्बाध रूप से बिजली मिलेगी. हर बुनियादी सुविधाओं को गांव तक पहुंचाने का कार्य सरकार कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से गरीबों को सम्मान मिला है. आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से अब इलाज के लिए किसी से ऋण लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी. किसी भी सूचीबद्ध सरकारी व गैर सरकारी अस्पताल में जाकर अपना मुफ्त इलाज करा सकेंगे.

इसे भी पढ़ें – 44 महीने से झमाडा कर्मचारियों का वेतन बकाया, 15 जून से 700 कर्मी कर सकते हैं हड़ताल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: