न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकतंत्र का चौथा स्तंभ सुरक्षित नहीं रहा, तो भारत बन जायेगा नाजी स्टेट  : मद्रास हाई कोर्ट

जस्टिस पीएन प्रकाश ने साप्ताहिक पत्रिका, इंडिया टुडे के तमिल संस्करण के खिलाफ 2012 में शुरू की गयी मानहानि की कार्यवाही रद्द करने के क्रम में यह टिप़्पणी की.

31

Chennai : मद्रास हाई कोर्ट ने कहा है कि अगर लोकतंत्र का चौथा स्तंभ सुरक्षित नहीं रहा, तो भारत नाजी स्टेट बन जायेगा. खबरों के अनुसार जस्टिस पीएन प्रकाश ने साप्ताहिक पत्रिका, इंडिया टुडे के तमिल संस्करण के खिलाफ 2012 में शुरू की गयी मानहानि की कार्यवाही रद्द करने के क्रम में यह टिप़्पणी की. बता दें कि तमिलनाडु सरकार ने इंडिया टुडे के खिलाफ मामला एक लेख के खिलाफ दायर किया था.  लेख में कहा गया था कि एआईएडीएमके की पूर्व सदस्य वीके शशिकला ने 2012 में एआईएडीएमके कैबिनेट से प्रदेश के तत्कालीन राजस्व मंत्री केए सेनगोट्टईयान को हटाने के फैसले को प्रभावित किया था.  राज्य सरकार ने तर्क दिया था कि इस लेख के कारण पूर्व मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके प्रमुख जे जयललिता की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है. बता दें कि कार्यवाही रद्द करते हुए कोर्ट ने अपने फैसले में लिखा कि भारत एक जीवंत लोकतंत्र है और चौथा स्तंभ (प्रेस/मीडिया) अनिवार्य रूप से इसका हिस्सा हैं.  यदि चौथे स्तंभ की आवाज़ इस तरह से दबायी गयी, तो भारत नाजी राज्य बन जायेगा और हमारे स्वतंत्रता सेनानियों और संविधान निर्माताओं की कड़ी मेहनत नाली में जायेगी.

प्रेस की आजादी संरक्षित की जानी चाहिए, भले ही उनसे कभी-कभी अपराध हों

जस्टिस प्रकाश ने इस बात पर जोर दिया कि प्रेस की स्वतंत्रता अक्षुण्ण रखनी चाहिए. लोकतंत्र में अपनी भूमिका के बावजूद प्रेस की आजादी को संरक्षित किया जाना चाहिए, भले ही उनसे कभी-कभी अपराध हों. कोर्ट ने कहा, यह प्रेस का गंभीर दायित्व है कि वह लोगों के जेहन में संबंधित राजनीतिक दलों या महत्वपूर्ण घटनाओं से जुड़ी जानकारियों को याद करवाते रहें. अगर यह करने के लिए प्रेस को दबाया गया तो इस देश में लोकतंत्र पूरी तरह से खतरे में पड़ जायेगा. हालांकि प्रेस से कभी—कभी कुछ गलतियां भी हो सकती हैं लेकिन देश में लोकतंत्र को बचाये रखने के लिए ऐसी छोटी ग​लतियों को माफ किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें :   पीएम मोदी का करारा पलटवारः मोदी पर हमले नाकाम तो मां को दे रहे गाली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: