न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मछली का कांटा गले में अटक जाय, तो घर पर ट्राई करें ये उपाय

162

मछली खाने के कई लोग शौकीन होते हैं. अगर आप मछली खाते हैं तो कई बार आपके साथ ऐसा हुआ होगा की मछली का कांटा आपके गले में अटक गया होगा. अगर कभी मछली का कांटा आपके गले में अटक जाएं तो बहुत ही तकलीफ होती है. न तो थूकने की स्थिति बनती है न ही निगलने की. ऐसे में स्थिति और भी बहुत ही कठिन हो जाती है. कभी आपकी खाने वाली नाली में मछली का कांटा अटक जाए तो परेशान होने की जरूरत नहीं हैं. आज हम आपको हलक में फंसा मछली का कांटा निकालने के तरीके बताने जा रहें हैं.

  1. जोर से खांसे: जैसे ही आपको महसूस हो कि आपके गले में मछली का कांटा अटक गया है तो सबसे पहले जोर-जोर से खांसना शुरु करें. खांसने से आप मछली के कांटे को गले से नीचे जाने से रोक सकते हैं. अक्‍सर ही ऐसा होता है कुछ मिनट तक अगर आप जोर से दम लगाकर खांसे तो इससे शरीर की हवा गले में फंसी हड्डी या कांटे के विपरित जोर लगाने पर बाहर निकल सकती है.
  2. ऑलिव ऑयल: अगर आप खांसी के जरिए हड्डी को निकालने में नाकामयाब रहें हैं तो ऑलिव ऑयल गले में फंसी हड्डी निकालने में मदद कर सकता है. क्‍योंकि इसमें लुब्रिकेंट होता है. जिसके जारिए हड्डी बाहर निकल सकती है. तेल कांटे को चपटा और फिसलन भरा बना देगा, और इसे नरम करने में भी मदद करेगा और इसे तरल वजन से हड्डी का वजन नीचे गिरने लगेगा.
  3. विनेगर: आप चाहे तो विनेगर की भी मदद ले सकते है. जी हां, विनेगर और पानी को मिलाकर पानी पीने से भी मछली का कांटा हलक से नीचे आ जाता है. विनेगर पीने से पेट का एसिड तेज तरीके से काम करने लगता है और इस वजह से गले में फंसा कांटा नीचे की ओर खिसकने लगता है.
  4. चावल खाएं: अगर चावल उपलब्ध नहीं हैं तो सुखी रोटी को ही थोड़ा सा चबाकर निगल लें. ऐसे में गले में फंसा हुआ मछली का कांटा पेट के अंदर चला जाएगा.
  5. केला खाएं: मछली का कांटा गले में फंस जाने पर केले का टुकड़ा बिना चबाएं निगलने की कोशिश करें.
  6. पानी में ब्रेड को डुबाकर: ये तरीका कहते हैं बहुत ही कारगर साबित होता है. ब्रेड के एक टुकड़े को गर्म पानी में डुबाकर निगल लें. ये पानी से फूलकर बॉल बन जाएगा और इसके चिकनेपन की वजह से मछली का कांटा गले से नीचे उतारने में मदद मिलेगी.
  7. डॉक्‍टर से मिलें: अगर अधिक परेशानी हो रही हो और मछली का कांटा हलक से निकल न रहा हो तो डॉक्टर से मिलें.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: