न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

गर हो सके तो अब कोई समां जलाइये, इस अहले सियासत का अंधेरा मिटाइये

अमन की बातें लेकर समानता यात्रा पहुंची पलामू, देश के वर्तमान हालात पर जनसंवाद

130

Palamu : लोकतंत्र और संविधान की हिफाजत के लिए जनता के बीच सामाजिक, राजनीतिक व सांस्कृतिक चेतना जागृत करने के अभियान पर निकली महिलाओं का कारवां पलामू पहुंचा. हिंसा के खिलाफ शांति के लिए, नफरत के खिलाफ प्रेम के लिए, और सांप्रदायिकता के खिलाफ भाईचारा के लिए संघर्षशील महिलाएं अमन की बातें लोगों से कर रही हैं.

mi banner add

इसे भी पढ़ेंःप्रणव नमन कंपनी ने अच्छी क्वालिटी के कोयले में मिलाने के लिए कटकमसांडी रेलवे कोल साइडिंग में जमा कर रखा है हजारों टन चारकोल (देखें व पढ़ें ग्राउंड रिपोर्ट)

देश के विभिन्न राज्यों में सामाजिक, राजनीतिक व सांस्कृतिक रूप से सक्रिय महिलाओं के नेतृत्व में पांच अलग-अलग जत्था पूरे देश में घूम रहा है. अमन की बातें लेकर समानता यात्रा के साथ पलामू पहुंची महिलाओं के साथ विभिन्न संगठनों ने शांति मार्च निकाला. लोगों से जन संवाद किया और संविधान व लोकतंत्र की हिफाजत के लिए आगे आने का संकल्प भी लिया. मार्च में शामिल इप्टा के कलाकारों ने गर हो सके तो अब कोई समां जलाईये, इस अहले सियासत का अंधेरा मिटाइये है गीत के जरिए जनता की एकजुटता का आह्वान किया.

इसे भी पढ़ें –  NEWS WING IMPACT : आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने के मामले में रिम्स निदेशक बोले- हमसे गलती हुई, आयुष्मान भारत की सही से नहीं थी जानकारी

पीएम मोदी पर निशाना

डालटनगंज के आईएमए हॉल परिसर में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान यात्रा में शामिल महिलाओं ने न सिर्फ अपने अनुभवों को साझा किया, बल्कि देश के मौजूदा हालात पर भी चर्चा की.
इस दौरान समानता यात्रा में शामिल महिलाओं ने केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर निशाना साधा और अपने विचार साझा किये.

वही भाकपा के पूर्व राज्य सचिव सह केंद्रीय कमेटी सदस्य केडी सिंह ने यात्रा में शामिल महिलाओं को हौसला बढ़ाते हुए कहा कि झारखंड में साझी संस्कृति और मजहबी एकता की परंपरा रही है. जिसमें वर्तमान केंद्र सरकार एक साजिश के तहत खत्म कर लोगों को एक-दूसरे के खिलाफ नफरत पैदा कर रही है. आज हर कौम के लोग डरे सहमे हैं. ऐसे दौर में बातें अमन की करने समानता यात्रा पर निकली महिलाओं के जज्बे को सलाम करने की जरूरत है.

इसे भी पढ़ेंःहर माह 32 करोड़ नुकसान की भरपाई कर रहे 47 लाख बिजली उपभोक्ता, सीएम ने मानी व्यवस्था में खामी 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: