Crime NewsDumka

दूसरे गांव के लोग नहीं करते विरोध तो उनके गांव में भी निर्वस्त्र महिला व पुरुष को घुमाया जाता, चार गिरफ्तार

Dumka: दुमका मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मयूरनोचा गांव से सटे गांव के ग्रामीण यदि विरोध नहीं करते तो उनके गांव में भी निर्वस्त्र महिला-पुरुष को घुमाया जाता. मालूम हो कि कल अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए मयूरनोचा गांव में एक महिला व पुरुष को निर्वस्त्र कर घुमाया गया. इस मामले में पुलिस ने गांव के प्रधान समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. जिसे न्यायायिक प्रक्रिया के जेल भेजा जाएगा. जबकि मामले में संलिप्त अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःरांची : पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप ने अपर बाजार के व्यवसायी से मांगी तीन करोड़ की रंगदारी

advt

ज़िला प्रशासन ने मामले के संज्ञान में आते ही पीड़ित महिला को राशन ,कपड़ा और सुरक्षा मुहैया कराया है. पीड़ित महिला ने गांव के प्रधान समेत छह लोगों पर नामजद औऱ 40 से 50 अज्ञात लोगों पर एफआईआर कराया है. दरअसल  मयूरनोचा गांव की 34 वर्षीय मलोती हेम्ब्रम एक शादीशुदा गरीब महिला है. उसका पति सुखलाल मुर्मू एक वर्ष से दुमका सेंट्रल जेल में बंद है. मनोती अपने परिवार का भरण पोषण के ले दैनिक मजदूरी करने लगी. मजदूरी करने के दौरान उसकी जान पहचान राजमिस्त्री रामेश्वर पाल से हुई. राजमिस्त्री होने के कारण मलोती को रोज काम मिलने लगा. अच्छी जान पहचान होने के बाद मलोती ने अपने पति के जेल में होने की बाद रामेश्वर को बताई और जेल से निकलवाने के लिए मदद मांगी. रामेश्वर मदद करने को तैयार हो गया.

 

बताया जाता है कि मलोती ने पति के केस से सम्बंधित कागज दिखाने अपने घर 25 सितंबर को 3 बजे उसे अपने घर बुलाई थी. रामेश्वर के घर आने पर मलोती और उसकी माँ केस से सम्बंधित बातचीत  कर ही रही थी कि तभी गांव के गोपिन मुर्मू, दीवान मुर्मू ,गच्छा मुर्मू और खन्दू मुर्मू जो आपस भाई है आये और मलोती पर आरोप लगाते हुए कहा कि तुम्हारा रामेश्वर पाल से गलत संबंध है.  फिर चारों ने मलोती और रामेश्वर को पकड़ कर गांव के प्रधान सामुधन किस्कु घर लेकर आये. ग्राम प्रधान ने इसकी सूचना पुलिस को देने के बजाय दोनों को बंधक बनाकर अपने घर पर ही रखा. दो दिनों तक बंधक रखने के बाद ग्राम प्रधान सामुधन किस्कु ने दोनो को पंचायत में सजा  देने का फैसला लिया. 27 सितंबर के शाम ग्राम प्रधान और चारों भाइयों ने ग्रामीणों के बीच निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया. वे दोनों को दूसरे गांव में भी घूमना चाहते थे लेकिन दूसरे गांव लोगों ने इसका विरोध किया और इसकी सूचना पुलिस को दी.

इसे भी पढ़ें: इस बार सिद्धू को भारी पड़ सकती है तुनुकमिजाजी, कांग्रेस आलाकामान मनाने के मूड में नहीं

सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई और दोनों पीड़ित को पुलिस संरक्षण में ले लिया. पीड़ित महिला मलोती के लिखित फर्द बयान पर आईपीसी के विभिन्न धारा में  ग्राम प्रधान समेत पांच पर नामजद और 40 से 50 अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी. पुलिस ने ग्राम प्रधान समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है. महिला मनोती अपने पति के घर मे अपने तीन बच्चे के साथ रहती है. घटना को अंजाम देने वाले चारों भाई महिला का देवर है और ग्राम प्रधान पीड़ित महिला का भैसुर है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: