न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जरूरत पड़ी तो अल्पसंख्यक को बनायेंगे मुख्यमंत्री: आम आदमी पार्टी

पार्टी का कोडरमा जिला कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित

1,576

Koderma:  आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी ने कहा है कि जरुरत पड़ने पर अल्पसंख्यक समाज के किसी नेता को पार्टी झारखंड का मुख्यमंत्री बना सकती है. श्री चौधरी रविवार को झुमरी तिलैया ब्लॉक रोड स्थित साहू धर्मशाला में आम आदमी पार्टी के कोडरमा जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. आप के प्रदेश संयोजक ने कहा कि देश में आम आदमी पार्टी एकमात्र पार्टी है, जो दिल्ली की जामा मस्जिद के इमाम से कह सकती है कि हमें आपका सहयोग नहीं चाहिए. उन्होंने कहा कि सिर्फ आप मुद्दों की राजनीति करती है, योग्यता की कद्र करती है. इसी संदर्भ में उन्होंने कहा कि जरुरत पड़ने पर आप झारखंड में किसी अल्पसंख्यक को मुख्यमंत्री बना सकती है. कहा कि गठबंधन जनता के मुद्दों पर हो, सत्ता के लिए नहीं.

कोडरमा में बढ़ रही है आपकी ताकतः संतोष मानव

इस मौके पर आप के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. संतोष मानव ने कहा कि कोडरमा में आप की बढ़ती शक्ति से राजद और भाजपा में बेचैनी है. गोलवाढाब, बिचरिया, कोलगरमा हो या नावाडीह अल्पसंख्यकों को सताने वाले राजद के लोग हैं. अल्पसंख्यकों को सताने के मामले में राजद और भाजपा साथ-साथ है. उन्होंने कहा की आप की बढ़ती शक्ति कह रही है कि कोडरमा का अगला विधायक आम आदमी पार्टी का होगा. कोडरमा में भाजपा और राजद की शक्ति आधी हो गयी है. इसलिए आप पूरी ताकतवाली हो गयी है.

कुछ लोग देश को बांट रहे हैंः श्रीनिवास

आप के मार्गदर्शक और जिले के बुजुर्ग नेता श्रीनिवास शर्मा ने कहा कि कुछ लोग देश को बांट रहे हैं, ऐसे में बांटने वाली शक्तियों को परास्त करना आवश्यक हो गया है. रांची से आये प्रदेश उपाध्यक्ष परवेज़ सज्जाद ने कहा कि आप के साथ सभी समाज के लोग तेजी से जुड़ रहे हैं. राज्य में अगली सरकार आप के बगैर नहीं बनेगी.

सम्मेलन को सफल बनाने में इनका रहा योगदान

सम्मेलन को जिला सलाहकार लालबहादुर सिंह, लोकसभा सह प्रभारी विनय सिंह, झुमरीतिलैया नगर अध्यक्ष दामोदर यादव, शकूर मियां आदि ने संबोधित किया. धन्यवाद ज्ञापन शंकर विश्वकर्मा ने किया. सम्मेलन को सफल बनाने में विधानसभा प्रभारी सुदर्शन विश्वकर्मा, विधानसभा सह प्रभारी सुधीर राम, राजेंद्र भुईयां, जयदेव सिंह आदि कार्यकर्ताओं ने दिन-रात मेहनत की.

इसे भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में मतदाता सूची से 50 लाख नाम हटे, एक नाम कई बार तो किसी की हो चुकी है मौत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: