JharkhandNEWSRanchi

घर चलाना हुआ मुश्किल तो बेचने लगे चाय, हाईकोर्ट में लगाई गुहार

Ranchi: रिम्स में मैनपावर की कमी को दूर करने को लेकर दो साल पहले प्रबंधन ने बहाली के लिए आवेदन मांगा था. जिसमें काफी संख्या में युवाओं ने आवेदन किया था. शॉर्टलिस्ट करने के बाद ज्वाइनिंग के लिए जरूरी प्रक्रियाएं भी पूरी की गई. इस दौरान काफी संख्या में ज्वाइनिंग कराई गई. फाइनल लिस्ट के बाद भी 143 युवा ऐसे हैं जिन्हें आजतक ज्वाइनिंग नहीं कराई गई. इस बाबत कैंडिडेट्स ने कई बार रिम्स प्रबंधन को पत्र भी लिखा, लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब नहीं मिला. स्थिति यह हो गई कि कई कैंडिडेट्स अपना घर चलाने को रिम्स कैंपस में ही चाय की दुकान चलाने को मजबूर हैं. इधऱ, प्रबंधन की ओर से कोई जवाब नहीं मिलने पर कैंडिडेट्स ने हाईकोर्ट में मदद की गुहार लगाई है.

इसे भी पढ़ेंःचोरी के आरोप में सरे बाजार महिलाओं ने दो महिलाओं के काटे बाल, की पिटाई, वीडियो बनाते रहे पुरुष, देखें VIDEO

मार्च 2019 में निकली थी वैकेंसी

रिम्स में विभिन्न पदों पर बहाली के लिए मार्च 2019 में विज्ञापन निकाला गया. जिसके बाद योग्य कैंडिडेट्स ने आवेदन किया. आवेदन और अन्य प्रक्रिया पूरी करने के बाद उनकी मेरिट लिस्ट 20 अक्टूबर 2020 को जारी कर दी गई. 143 लोगों का नाम मेरिट लिस्ट में था. सभी का डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन के बाद उन्हें ज्वाइनिंग लेटर देने की बात कही गई. लेकिन आज दस महीने बीत जाने के बाद भी उन्हें ज्वाइनिंग नहीं कराई गई.

Related Articles

Back to top button