Corona_UpdatesKhas-KhabarRanchi

राज्य में बढ़ा #Corona संक्रमण तो मात्र 350 वेंटिलेटर ही बनेंगे सहारा, सरकार ने और 380 वेंटिलेटर का ही दिया है ऑर्डर

Ranchi: राज्य में कोरोना ने दस्तक दे दी है. जिस तरीके से संक्रमण देश के विभिन्न हिस्सों में बढ़ रहा है, अगर झारखंड में भी फैला तो मात्र 350 वेंटिलेटर ही सहारा बन सकेंगे.

राज्य में प्राईवेट और सरकारी दोनों मिलाकर कुल 350 वेंटिलेटर ही मौजूद हैं. मात्र 350. बता दें कि राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में ही मात्र 50 वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध है. इसके अलावा अन्य दो बड़े अस्पातल एमजीएम जमशेदपुर और पीएमसीएच में क्रमशः 5 और 4 वेंटिलेटर हैं.

इसे भी पढ़ेंः#Lockdown: BJP MLA मनीष जायसवाल ने दी थी तीन लोगों भागलपुर जाने के लिए परमिट, प्रशासन ने किया खारिज

इसमें से भी कुछ खराब हैं. वहीं रिम्स के 25 बेड को आपातकाल के लिए सुरक्षित रखा गया है. वहीं निजी अस्पतालों के 261 बेड को चिन्हित किया गया है.

कोरोना से निपटने के लिए राज्य सरकार ने दिये हैं 380 नए वेंटिलेटर के ऑर्डर

राज्य में कोरोना से निपटने और वेंटिलेटर की कमी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने 380 नए वेंटिलेटर के ऑर्डर दिये हैं. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ भी हुए बैठक में झारखंड के वेंटिलेटर की स्थिति का लेकर चिंता जतायी थी और जल्द से जल्द मुहैया कराने की भी मांग की थी. अभी 380 वेंटिलेटर के ऑर्डर की डिलिवरी नहीं हुई है.

इसके अलावा पीपीई किट और कोरोना जांच किट की भी मांग की गयी थी, जिसकी अचानक कमी हो सकती है. हालांकि स्वास्थ्य मंत्री ने भरोसा दिलाया है कि किसी भी हाल में संसाधन की कमी नहीं होने दी जाएगी.

इसे भी पढ़ेंः#TabligiJamaat में शामिल होकर झारखंड आए लोगों की तलाश में पुलिस की ताबड़तोड़ छापेमारी

राष्ट्रीय औसत से भी खराब हैं झारखंड के हालात

प्रति व्यक्ति पर वेटिंलेटर के हिसाब से झारखंड का औसत राष्ट्रीय औसत से भी बहुत खराब है. राज्य के सवा तीन करोड़ जनता के हिसाब से एक वेंटिलेटर पर 73 हजार की आबादी निर्भर करती है. जबकि राष्ट्रीय औसत लगभग 43 हजार लोगों पर एक का है.

बता दें कि राज्य के 24 सदर अस्पतालों में से 15 सदर अस्पतालों में एक भी वेंटिलेटर नहीं है. और जिस सदर में वेंटिलेटर की सुविधा हैं वहां या तो उपयोग में नहीं रहा है या फिर खराब होने के हालात में है. कोई भी पूरी तरह से ठीक नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः #TabligiJamaat के लोग इलाज में नहीं कर रहे सहयोगः तुगलकाबाद रेलवे आइसोलेशन सेंटर में डॉक्टर पर थूका

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button