JharkhandRanchi

शत प्रतिशत युवाओं को रोजगार नहीं दे पाया तो दूंगा बेरोजगारी भत्ताः हेमंत सोरेन

Ranchi : झारखंड में लोकसभा चुनाव समाप्त होते ही विधानसभा चुनाव की तैयारी पार्टियों ने शुरु कर दी है. वादों और घोषणाओं का दौर चालू हो चुका है. पूर्व मुख्यमंत्री और झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने घोषणा की है कि उनकी सरकार आने पर राज्य के सभी युवाओं को झारखंड में ही रोजगार देंगे.

उन्होंने कहा कि अगर नहीं दे पाया तो सभी युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देंगे. हेमंत ने अपने आफिशियल ट्वीटर से  ट्वीट किया है कि झारखंड में बेरोजगारी एक बीमारी की तरह बढ़ रही है. रघुवर दास की सरकार ने युवाओं को सिर्फ ठगा है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में सरकारी वेकेंसी का नहीं भरना और उद्योग का विकास नहीं होना बेरोजगारी का बड़ा कारण

सबसे बड़े वोट बैंक पर निशाना

हेमंत सोरेन के इस ट्वीट के जरिए घोषणा करने के कई मायने हैं. हेमंत सोरेन ने शत प्रतिशत युवाओं को राज्य में ही नौकरी देने और नहीं दे पाने की स्थिति में बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही है. इस घोषणा से वो राज्य के सबसे बड़े वोट बैंक को अपने पक्ष में रिझाने का प्रयास करेंगे. युवा मतदाताओं को अपने पक्ष में करने के ये सबसे कारगार उपाय हो सकता है. राज्य के ग्रामीण इलाकों के अधिकतर युवा पलायन के शिकार हैं.

इसे भी पढ़ें – चार साल बाद भी खड़ा नहीं हो पाया बिजली कंपनियों का संगठनात्मक ढांचा, अफसरों और इंजीनियरों के पद नाम भी नहीं बदले

झारखंड में हर पांच युवाओं में एक बेरोजगार

झारखंड में हर पांच युवाओं में एक बेरोजगार है. महिला युवाओं की बेरोजगारी दर पुरुषों से 12% अधिक है. प्रदेश के 46% पोस्ट ग्रेजुएट और 49% ग्रेजुएट युवाओं को नौकरी नहीं मिलती. कम पढ़े-लिखे युवाओं को दिक्कत नहीं है.

बेरोजगारी की दर मिडिल पास में 12.6% और प्राइमरी पास युवाओं में 10.1% है. इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन डेवलपमेंट के डा बलवंत सिंह मेहता और डा अश्विनी कुमार की रिपोर्ट में यह आकड़ा सामने आया है.

Related Articles

Back to top button