न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अब ट्रैफिक सिग्नल तोड़ा तो देख लेगी तीसरी आंख, शहर के 16 चौराहों पर लगे हाई स्पीड कैमरे

शहर के 16 चौराहों पर शुरू हो रहे ट्रायल को 31 दिसंबर तक चलाया जाएगा.

22

Ranchi: राजधानी रांची में अब पुलिस को चकमा देकर भागने वालों की खैर नहीं है. अब सोमवार से ट्रैफिक सिग्नल तोड़ने वालों के विरुद्ध नई व्यवस्था ट्रायल के तौर पर शुरू होने जा रही है. शहर के 16 चौराहों पर शुरू हो रहे ट्रायल को 31 दिसंबर तक चलाया जाएगा. सिग्नल तोड़ने वालों की अब बचना मुश्किल है और उन्हें हर हाल में चालान भरना होगा. क्योंकि अब ट्रैफिक सिग्नल तोड़कर भागने वाले तीसरी आंख यानि सीसीटीवी कैमरे से बच नहीं पायेगा. उसके गाड़ी के नंबर पर दर्ज पते पर चालान पहुंच जाएगा.

 अभी ट्रायल के तौर पर हो रही है शुरुआत

यह नियम 10 दिसंबर से लेकर 31 दिसंबर तक ट्रायल के तौर पर शुरू किया जा रहा है. इसके बाद 1 जनवरी से यह नियम पूर्ण रूप से लागू हो जाएगा. इस ट्रायल को देखते हुए एक सप्ताह में जेब्रा क्रॉसिंग येल्लो और स्टॉप लाइन को बनाने का काम भी पूरा हो जाएगा. इसके अलावा जहां-जहां सिग्नल लाइट सही तरीके से काम नहीं कर रहे हैं, उसे भी ठीक किया जा रहा है. अब 10 दिसंबर से सभी 16 चौराहों पर सिग्नल लाइट और कैमरे काम करने लगेंगे. जो भी वाहन चालक ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करेंगे उनपर नियम संगत कार्यवाई की जाएगी.

 इन चौक-चौराहे पर लगे हैं हाई स्पीड सीसीटीवी कैमरे

जेल चौक, अरगोड़ा चौक, चांदनी चौक, सर्जना चौक, बिरसा चौक, प्रेमसंस मंदिर चौक, सुजाता चौक, करम टोली चौक, सहजानंद चौक, हिनू चौक, कचहरी चौक, बूटी मोड़ चौक, रातू रोड चौक, एजी मोड़ चौक, सिरम टोली चौक और लालपुर चौक पर हाई स्पीड सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.

 शहर में है ट्रैफिक पुलिस की कमी

राजधानी रांची में ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने के लिए 500 ट्रैफिक पुलिस की जरूरत है. लेकिन वर्तमान में 194 ट्रैफिक पुलिस ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने में लगे हुए हैं, जो कि पर्याप्त नहीं है. कहा जा रहा है कि अगले महीने 100 ट्रैफिक पुलिस राजधानी रांची को मिलने वाले हैं. 100 ट्रैफिक पुलिस के मिलने से ट्रैफिक व्यवस्था संभालने में थोड़ी सहूलियत होगी.

 एक जनवरी से पूर्ण रूप से लागू होगा नियम

ट्रैफिक एसपी अजीत पीटर डुंगडुंग ने इस बारे में बताया कि अभी इसे ट्रायल के तौर पर शुरू किया जा रहा है. लेकिन एक जनवरी 2019 से इसे पूरी सख्ती से लागू किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – बोकारो में करीब 10 करोड़ के तेल का खेल, जांच रिपोर्ट दबा दी गयी, मंत्री ने रिकॉर्ड मंगाकर शुरू की जांच

इसे भी पढ़ें – राजधानी का सबसे ऊंचा अपार्टमेंट बना है पहनई जमीन पर, हाई कोर्ट ने एसएआर कोर्ट के आदेश पर फैसला सुरक्षित रखा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: