JamshedpurJharkhandSaraikela

कुचाई के जंगली रास्तों में कदम-कदम पर बिछा था IED, लेकिन पुलिस ने नाकाम कर दी नक्सलियों की साजिश  

Jamshedpur : सरायकेला-खरसावां जिले के कुचाई के जंगली रास्तों में नक्सलियों ने कदम-कदम पर बारूद बिछा रखा था. साजिश थी कि इस रास्ते पुलिस गुजरे तो उसे निशाना बनाया जाये.  लेकिन पुलिस ने समय रहते इसका पता लगा कर निष्क्रिय कर दिया. दो दिनों में कुल 50 बमों को ढूंढकर डिफ्यूज किया गया.

पहला मामला कुचाई थाना क्षेत्र के दलभंगा ओपी अंतर्गत नीमडीह, पाण्डुबुरु एवं डोडारदा जाने वाली जंगली कच्ची पहाड़ी के रास्ते का है. जहां गुरुवार को जिला पुलिस बल के साथ सीआरपीएफ एवं झारखंड जगुआर की टीम नक्सलियों के खिलाफ विशेष संयुक्त अभियान पर निकली थी. अभियान का नेतृत्व जिले के पुलिस अधीक्षक, अभियान और सीआरपीएफ के नीरज सिंह राठौर संयुक्त रुप से कर रहे थे. उसी दौरान जिला पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि माओवादी नक्सली संगठन के रमेश उर्फ अनल दा के दस्ता ने सुरक्षा बलों को जान-माल की क्षति पहुंचाने के लिए रास्ते में आईईडी बम प्लांट करके रखा है. इस सूचना के बाद सतर्कता बरतते हुए सुरक्षा बलों ने करीब 25 केन बम बरामद किये. बमों का वजन 3 से 5 किलोग्राम पाया गया.

इसे भी पढ़ें – गोवा में काम करने की बात कहकर 2016 में घर से निकला था जेम्स, घरवालों को नक्सली होने की जानकारी तक नहीं

इसके बाद दोबारा शुक्रवार को पुलिस बल ने एक बार फिर नक्सलियों के खिलाफ अपने अभियान में रुगुडीह से डोडारदा जाने वाली जंगली कच्ची पहाड़ी के रास्ते में सीरीज में करीब 25 केन बम बरामद किया. इस दौरान भी बरामद आईईडी को बम निरोधक दस्ता ने सावधानीपूर्वक डिफ्यूज कर दिया. यह जानकारी सरायेकला-खरसावां जिले के एसपी आनंद प्रकाश ने दी. उन्होंने बताया  कि सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने के लिए अनल दा के दस्ते ने आईआईडी बम प्लांट किया था, जिसे समय रहते नष्ट कर दिया गया. नहीं तो सुरक्षा बलों के साथ ग्रामीणों को भी भारी नुकसान हो सकता था. इस बीच एसपी आनंद प्रकाश ने एक बार फिर नक्सलियों से समाज की मुख्यधारा में लौटने की अपील करते हुए टीम में शामिल सभी जवानों एवं पदाधिकारियों के कार्यों की सराहना की है. उन्होंने सभी के मनोबल को ऊंचा बनाए रखने हेतु उचित पुरस्कार के लिए अनुशंसा किए जाने की बात कही. विदित रहे कि एक हफ्ते पूर्व भी इसी इलाके से 35 केंद्र बम बरामद किए गए थे. जिस टीम ने डिफ्यूज कर दिया था. उसके बाद भी एक बार फिर इसी इलाके से केन बम बरामद होने से सुरक्षाबलों की चुनौती बढ़ गई है. हालांकि जिले के एसपी का दावा है जिला पुलिस नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में काफी सतर्कता बरत रही है. उन्होंने अभियान में शामिल सभी जवानों एवं अधिकारियों को इनाम देने की अनुशंसा किए जाने की बात कही. साथ ही कहा कि नक्सलियों के खिलाफ यह अभियान आगे और जोरशोर से चलेगा.

इसे भी पढ़ें – 26 सितंबर को फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज का होगा चुनाव, नोमिनेशन शुरू

Related Articles

Back to top button