न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एसपीओ बुधु दास की हत्या करने वाले शूटर की हुई पहचान, पुलिस जल्द कर सकती है गिरफ्तार

1,323

Ranchi:  गोंदा थाना क्षेत्र के मुख्यमंत्री आवास के सामने 7 सितंबर 2018 पुलिस को पूर्व एसपीओ बुधु दास की हत्या में शामिल शूटरों की पहचान हो गयी है. हत्याकांड में शामिल सभी शूटर रांची जिले के ही रहने वाले हैं.

mi banner add

हत्या में शामिल शूटर की पहचान के बाद पुलिस अब उनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार दबाव डाल रही है.

जल्द ही हत्या में शामिल सभी शूटर को पुलिस गिरफ्तार कर लेगी, ये दावा किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः अटल वेंडर मार्केट : पार्षदों ने कहा हुई है गड़बड़ी, निगम आयुक्त ने सवालों का नहीं दिया जवाब, डिप्टी मेयर भी खामोश

 तीन लोगों को बनाया गया था नामजद अभियुक्त

बुधु दास की हत्या को सीएम आवास के सामने अंजाम दिया गया था. 7 सितंबर 2018 को सीएम आवास के सामने बुधु दास की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

बुधु दास की पत्नी के बयान पर इस मामले में 3 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया था. इस मामले के मुख्य आरोपी बबलू कुमार को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

बुधु दास की पत्नी ने पुलिस को बताया था पांच लाख रुपया देकर बबलू ने बुधु दास की हत्या करवा दी थी.

इसे भी पढ़ेंः टीवी डिबेट में लड़ कर मामला सलटाने कोर्ट में आ जाते हैं? स्मृति मानहानि केस को लेकर SC ने निरुपम से यह कहा

 बस स्टैंड के ठेके को लेकर विवाद में हुई थी हत्या  

पुलिस की जांच से सामने आया है कि बुधु दास और आरोपी बबलू कुम्हार के बीच एक बस स्टैंड के ठेके को लेकर विवाद चल रहा था. बबलू को यह डर था कि कहीं बुधु दास उसकी हत्या न करवा दे.

इसी डर के कारण उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बुधु दास की हत्या करवा दी. इस मामले में घटना के समय पुलिस ने बबलू से 7 दिनों तक पूछताछ भी की थी और उसके बाद उसे छोड़ दिया गया था.

लेकिन बाद में साक्ष्य  मिलने के बाद पुलिस ने बबलू को पकड़ कर जेल भेज दिया.

इसे भी पढ़ेंः राज्य में सक्रिय 42 नक्सलियों के फर्जी बैंक खातों में 57 करोड़ जमा, जानकारी के बावजूद कार्रवाई नहीं

 माओवादी दस्ते का सदस्य है शूटर

बुधु दास की हत्या करनेवाला शूटर माओवादी दस्ता का सदस्य है़. हत्या के बाद रांची पुलिस ने कई संदिग्ध शूटरों को हिरासत में लिया था़.

उन शूटरों ने ही पुलिस को गुप्त जानकारी दी थी कि माओवादी दस्ता का एक सदस्य बुधु दास की हत्या में शामिल है़.

एसपीओ रहने के दौरान बुधु दास ने माओवादियों के संबंध में कई अहम जानकारी पुलिस की दी थी. जिससे पुलिस ने माओवादियों को काफी नुकसान पहुंचाया था.

इसे भी पढ़ेंः केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो दो बजट पेश होंगे, एक राष्ट्रीय बजट दूसरा किसानों का बजट  : राहुल  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: