न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

विदेश मंत्री एस जयशंकर गुजरात से, राम विलास पासवान को बिहार से राज्यसभा भेजे जाने के कयास

गुजरात की गांधी नगर सीट से अमित शाह, यूपी कीअमेठी सीट से स्मृति ईरानी और बिहार की पटनासाहिब सीट से रविशंकर प्रसाद चुनाव जीते हैं.

43

NewDelhi :  मोदी सरकार 2 में विदेश मंत्री बनाये गये एस जयशंकर को भाजपा गुजरात से राज्यसभा भेज सकती है. सूत्रों के हवाले से यह खबर आयी है, इस क्रम में  केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान बिहार से राज्यसभा भेजे जा सकते हैं.  बता दें कि अभी एस जयशंकर और राम विलास पासवान न तो लोकसभा के सदस्य हैं और न ही राज्यसभा के.  मंत्री  बनाये दाने पर दोनों को छह महीने के अंदर दोनों सदनों में से किसी एक का सदस्य बनना जरूरी है.

बता दें कि गुजरात की गांधी नगर सीट से अमित शाह, यूपी कीअमेठी सीट से स्मृति ईरानी और बिहार की पटनासाहिब सीट से रविशंकर प्रसाद चुनाव जीते हैं. अमित शाह और स्मृति ईरानी गुजरात से, जबकि रविशंकर प्रसाद बिहार से राज्यसभा सदस्य थे. चुनाव जीतने के बाद तीनों ने अपना इस्तीफा दे दिया था. अब इनकी जगह पर बिहार से रामविलास पासवान और गुजरात से एस जयशंकर को राज्यसभा भेजे  जाने के कयास  लग रहे हैं

इसे भी पढ़ेंः रॉबर्ट वाड्रा को इलाज के लिए यूएस और नीदरलैंड जाने की अनुमति मिली

जयशंकर 2015 से लेकर जनवरी 2018 तक विदेश सचिव रहे

इसी साल रिटायर हुए सुब्रह्मण्यम जयशंकर सबसे लंबी 36 साल की विदेश सेवा के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से स्नातक और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से इंटरनेशनल रिलेशन में एमए किया है. जनवरी 2015 से लेकर जनवरी 2018 तक विदेश सचिव रहते हुए उन्होंने मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान उनकी विदेश नीति को आकार देने में अहम भूमिका निभाई.

Related Posts

200 से ज्यादा लेखकों-सामाजिक कार्यकर्ताओं ने  पत्र जारी कर कहा,  जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल  370 हटाना असंवैधानिक

कार्यकर्ताओं ने जम्मू और कश्मीर को  दिया गया  विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के केंद्र के फैसले को अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक करार दिया है.

SMILE
इसे भी पढ़ेंः  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को मोदी सरकार का तोहफा, मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा   

पासवान ने इस बार चुनाव नहीं लड़ा

लोक जनता शक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान ने इस बार चुनाव नहीं लड़ा था. चुनाव से पहले ही पासवान ने साफ कर दिया था कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे. माना जा रहा था कि  भाजपा उन्हें राज्यसभा भेजेगी. बिहार में उनकी पार्टी ने भाजपा  और जदयू के साथ मिलकर छह सीटों पर लोकसभा का चुनाव लड़ा और सभी पर जीत हासिल की.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: