न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#ICFAIUniversity: दीक्षांत समारोह में 143 विद्यार्थियों को मिली उपाधि

304

Ranchi: इक्फाई विश्वविद्यालय, झारखंड का दीक्षांत समारोह आर्यभट्ट सभागार में आयोजित किया गया. जहां दीक्षांत समारोह में कुल 2019 के स्नातक 143 छात्रों को सम्मानित किया गया.

वहीं 5 पीएचडी, 38 पोस्ट-ग्रेजुएट और 100 स्नातक और डिप्लोमाधारक छात्र शामिल थे. 16 छात्रों को उनके उत्कृष्ट अकादमिक प्रदर्शन के लिए स्वर्ण और रजत पदक से सम्मानित किया गया. लगभग 50 फीसदी पदक विजेता महिलाएं थीं.

लोकायुक्त डीएन उपाध्याय व रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ केके नाग मौजूद थे. मौके पर कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू का संदेश रजिस्ट्रार द्वारा पढ़ा गया.

इसे भी पढ़ें – #BJP के सभी उम्मीदवारों के नामों का फैसला दो दिनों में, दिल्ली से होगी घोषणा

hotlips top

प्रासंगिक मुद्दों पर हो रहा है शोध

कार्यक्रम में स्वागत भाषण देते हुए विवि कुलपति प्रो ओआरएस राव ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने और छात्रों को मूल्यों और नैतिकता के साथ छात्रों को न केवल रोजगारपरक और अच्छे नागरिक बनाने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा उठाये गये विभिन्न प्रयासों पर प्रकाश डाला.

उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि विश्वविद्यालय ने कैरियर विकास पर सभी कार्यक्रमों के लिए एक पाठ्यक्रम शुरू किया, जिसमें छात्रों को तेजी से बदलते करियर के अवसरों के बारे में जागरूक किया जाता है ताकि वे उचित करियर चुन सकें.

30 may to 1 june

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: नामाकंन की आखिरी तारीख तक मतदाता वोटर कार्ड के लिए कर सकते हैं अप्लाइ

प्रो राव ने उदाहरणों के साथ इस बात पर भी प्रकाश डाला कि कैसे विश्वविद्यालय झारखंड राज्य के लिए प्रासंगिक मुद्दों पर शोध कर रहा है. प्रो राव ने विश्वविद्यालय द्वारा सोशल आउटरीच सर्विसेज के कारण पड़ोसी सिमलिया गांव में लाभ प्राप्त लोगों का भी उल्लेख किया.

स्नातक की उपाधि करनेवाले छात्रों की तारीफ करते हुए, न्यायमूर्ति उपाध्याय ने कहा कि आपका स्नातक आज आपके समर्पित प्रयासों का नतीजा है, अब आपको पेशे के साथ-साथ व्यक्तिगत जीवन के बारे में भी उचित निर्णय लेना होगा.

छात्रों को संबोधित करते हुए डॉ केके नाग ने कहा, शैक्षिक योग्यता, स्वयं जीवन में सफलता का आश्वासन नहीं देती है. जुनून, ईमानदारी और समर्पण सफलता की कुंजी है. इसके अलावा, समय के मूल्य को पहचानना भी महत्वपूर्ण है.

इसे भी पढ़ें – #Kolhan के दर्जन से अधिक नेताओं समेत सैकड़ों ने थामा झाविमो का दामन, बाबूलाल बोले- पार्टी पुराने रंग में लौटी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like