Jamshedpur

आईसीसी की बंद रिफायनरी एक सप्ताह में शुरू होगी

Ghatshila : एचसीएल की मऊभण्डार स्थित यूनिट इंडियन कॉपर कॉम्प्लेक्स (आईसीसी) की बन्द प्लांट को तय योजना अनुसार प्रबन्धन अगले दो माह चलाने के लिए तैयार हो गई है. प्रबंधन जल्द ही आईसीसी के रिफायनरी को शुरू कर एनोड से कैथोड तैयार करेगी. दो माह के लिए एचसीएल मुख्यालय ने ठेका मजदूरों के वर्क ऑर्डर को भी मंजूरी दे दी है. इसकी जानकारी आईसीसी वर्कर्स यूनियन के महासचिव ओम प्रकाश सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी. मौके पर यूनियन अध्यक्ष बीएन सिंहदेव, सहायक सचिव जयंत कुमार उपाध्याय, नरेन्द्र कुमार राय भी उमौजूद थे. यूनियन महासचिव ओपी सिंह ने बताया कि उनकी यूनियन लंबे समय से प्रयासरत थी की बन्द प्लांट को शुरू कराई जाए ताकि मजदूरों का रोजगार चलता रहे. प्लांट चलाने में सबसे बड़ी बाधा सांद्र अयस्क की अनुपब्लधता और प्रदूषण है. प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए प्लांट में करीब 300 करोड़ की लागत से नए स्मेल्टर एवं रिफायनरी को तैयार करने जरूरत है. साथ ही एचसीएल की मलाजखंड स्थित ताम्र खदान में प्रोडक्शन बढ़ने तथा आईसीसी की बन्द खदानों का भी चलना जरूरी है ताकि अयस्क की कमी दूर हो सके. हालांकि इसमें लंबा समय लगना तय है. यही कारण है कि उन्होंने सीएमडी से कस्टमाइज एनोड मंगाकर रिफायनरी चलाने की मांग की थी. यूनियन की मांग पर प्रबन्धन ने दो माह ट्रायल बेसिस पर रिफायनरी चलाने की मंजूरी दी है. उम्मीद है कि सप्ताह भर के भीतर रिफायनरी चलना शुरू हो जाएगा. आईसीसी में पहले से ही करीब 300 टन एनोड मौजूद है. जबकि एचसीएल की गुजरात इकाई से इतनी ही मात्रा में एनोड मऊभंडार प्लांट महीने भर पहले पहुंची है. करीब 600 टन एनोड के साथ रिफायनरी शुरू की जाएगी जो दो माह तक चलेगी.

दो माह तक मजदूरों को मिलेगा रोजगार

ठेका मजदूरों को दो माह रोजगार नसीब हो सकेगा.उम्मीद है कि दो माह के दरम्यान सुरदा माइंस के लीज से सम्बंधित सभी जरूरी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. केंदाडीह माइंस से भी अगले दो माह के दौरान उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है. ऐसा होने पर प्रबंधन से मांग की जाएगी की कस्टमाइज एनोड का वार्षिक टेंडर कर मऊभण्डार प्लांट को सालभर चलाया जाए. साथ ही धीरे-धीरे प्लांट में इंवेस्ट कर इसे चलाने योग्य तैयार किया जाएं. उन्होंने सुरदा समेत तीन कॉपर खदानों के एरिया एक्सटेंशन को मंजूरी देने के लिए विधायक एवं राज्य सरकार के प्रति आभार जताया है.

Related Articles

Back to top button