National

 आईएएस अधिकारी मोहसिन को चुनाव आयोग ने किया सस्पेंड, पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की तलाशी ली थी

NewDelhi : ओडिशा में प्रतिनियुक्ति‍ पर तैनात एक आईएएस रैंक के मतदान पर्यवेक्षक मोहम्मद मोहसिन सस्पेंड कर दिये गये हैं.  बता दें कि भारतीय चुनाव आयोग (ईसीआई) ने  मोहसिन को सस्पेंड किया है. खबरों के अनुसार एसपीजी सुरक्षा से संबंधित आयोग के निर्देशों के विपरीत कार्य करने के कारण आईएएस रैंक के इस अधिकारी पर कार्रवाई की गयी.  जान लें कि मंगलवार ,16 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा दौरे पर गये थे. पर्यवेक्षक मोहम्मद मोहसिन ने वहां सुरक्षा में तैनात एसपीजी से  प्रधानमंत्री मोदी हेलीकॉप्टर की जांच करने का अनुरोध किया था.

चुनाव आयोग के आदेश के अनुसार कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन को 16 अप्रैल को एसपीजी सुरक्षा से संबंधित आयोग के निर्देशों के विपरीत कार्रवाई करने के लिए निलंबित किया गया.  उस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैली को संबोधित करने के लिए ओडिशा के संबलपुर में थे.  अधिकारियों के अनुसार जनरल ऑब्जर्वर मोहसिन ने प्रधानमंत्री को लाने वाले हेलिकॉप्टर की जांच करने का प्रयास किया था. ओडिशा सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि जब प्रधानमंत्री रैली को संबोधित कर रहे थे.

उस समय अधिकारी मोहसिन हेलिकॉप्टर के पास तैनात एसपीजी के पास पहुंचे और तलाशी का अनुरोध किया.  एसपीजी ने प्रामाणिक दस्तावेज की मांग करते हुए उन्हें तलाशी की अनुमति दे दी.  हालांकि, इससे प्रधानमंत्री के प्रस्थान में 20 मिनट की देरी हो गयी.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ेंःओडिशाः वोटिंग से पहले पोलिंग पार्टी पर माओवादी हमला, चुनाव पर्यवेक्षक की हत्या

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

अधिकारी के पास तलाशी का आदेश देने का अधिकार नहीं है

ओडिशा सरकार  के अधिकारी  ने कहा कि  जहां तक ​​मुझे पता है, जनरल ऑब्जर्वर (मोहसिन) केवल चुनाव आयोग के कामों को देखते हैं और आयोग को ही रिपोर्ट करते हैं.  अधिकारी के पास तलाशी का आदेश देने का अधिकार नहीं है. मोहसिन के लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, वह वर्तमान में कर्नाटक के पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में सचिव हैं.

चुनाव आयोग की वेबसाइट के अनुसार उन्हें चार अप्रैल से 23 मई तक चार विधानसभा क्षेत्रों के लिए जनरल ऑब्जर्वर के रूप में संबलपुर, कुचिंडा, रेंगाली, संबलपुर और रायराखोल लोकसभा में तैनात किया गया है.  आयोग के आदेश के अनुसार, मुख्य निर्वाचन अधिकारी (ओडिशा), जिला चुनाव अधिकारी (संबलपुर) और डीआईजी (संबलपुर) की रिपोर्ट के बाद मोहसिन के  निलंबन का आदेश जारी किया गया.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चुनाव आयोग के आदेश के बाद सोमवार को एक वीडियो सामने आया, जिसमें केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को पुलिस अधिकारियों के साथ तीखी बहस करते हुए दिखाया गया.  बताया जा रहा है कि ये अधिकारी ओडिशा में एक उड़नदस्ते में शामिल थे.

इसे भी पढ़ेंःदंतेवाड़ाः विधायक भीमा मंडावी की हत्या में शामिल वर्गीस समेत दो नक्सली ढेर

Related Articles

Back to top button