National

#IAF चीफ ने कहा : हमारी मिसाइल ने हमारे ही चॉपर को मार गिराया था, यह बहुत बड़ी गलती थी

NewDelhi : इंडियन एयरफोर्स (IAF) के नये प्रमुख एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने 27 फरवरी को श्रीनगर में हुए एमआई-17 चॉपर क्रैश पर कहा कि यह वायुसेना की बहुत बड़ी गलती थी.

उन्होंने कहा, “कोर्ट ऑफ एन्क्वायरी पूरी हो गयी है, और यह हमारी ही बड़ी गलती थी, क्योंकि हमारी मिसाइल ने हमारे ही चॉपर को मार गिराया था… हम दो अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे… हम स्वीकार करते हैं कि यह हमारी बड़ी गलती थी, और हम सुनिश्चित करेंगे कि इस तरह की गलती भविष्य में नहीं दोहरायी जाये…”

इसे भी पढ़ें : #Bike सवार ने महिला #Constable से डंडा छीन #AutoDriver को पीटा, पुलिस देखती रही, फिर खुद भी पीटने लगी

Catalyst IAS
ram janam hospital

गश्ती के दौरान गलती से हमला

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

बता दें कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय वायुसेना का एमआई-17 चॉपर श्रीनगर के पास गश्त कर रहा था. लेकिन अचानक उस पर गलती से मिसाइल हमला कर दिया गया था.

कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी में पाया गया था कि अपने ही देश के स्पाइडर एयर डिफेंस की ओर से चॉपर पर मिसाइल दाग दी गयी थी. चॉपर के 10 मिनट पहले ही उड़ान भरी थी.

ज्ञात हो कि इस हादसे में Mi-17 हेलीकॉप्‍टर में सवार सात सैन्यकर्मियों की मौत हो गयी थी.

इसे भी पढ़ें : #ODF झारखंड का सच : कागजों पर #Toilet निर्माण दिखा राशि भी कर दी खर्च, जमीन पर सिर्फ गड्ढे और अधूरी दीवारें

हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार

वायु सेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय वायुसेना किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

उन्‍होंने कहा कि राफेल लड़ाकू विमान और एस-400 वायु रक्षा प्रणालियों की खरीद भारतीय वायुसेना की परिचालन क्षमताओं को काफी बढ़ायेगी.

उन्‍होंने कहा कि भारतीय वायु सेना की अभियान संबंधी तैयारी बेहद उच्च स्तरीय हैं. हम पूर्व की उपलब्धियों तक ही सीमित नहीं रहते.

वायु सेना प्रमुख ने कहा कि भारतीय वायुसेना ने पिछले साल बालाकोट हमले समेत अभियान संबंधी कई उपलब्धियां हासिल कीं. 30 सितंबर, 2019 को राकेश कुमार सिंह भदौरिया वायु सेना के प्रमुख बने हैं.

इसे भी पढ़ें : प्राइवेट स्कूलों ने की गलती, लेकिन खामियाजा भुगतेंगी छात्राएं

Related Articles

Back to top button