न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मैं था ममता बनर्जी का साया, इसीलिए बनीं मुख्यमंत्री : मुकुल रॉय

642

Kolkata:  भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल रॉय ने शनिवार को कहा है कि वह साया की तरह सहयोगी थे इसीलिए ममता बनर्जी मुख्यमंत्री बन सकी हैं.

दरअसल हवाला कारोबार के एक मामले में कालीघाट थाने में मुकुल से करीब ढाई घंटे तक पूछताछ हुई. वहां से बाहर निकलने के बाद वह मीडिया से मुखातिब हुए थे.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

उन्होंने कहा कि जब पश्चिम बंगाल में वाममोर्चा का शासन काल था तब ममता बनर्जी का सबसे बड़ा सहयोगी मैं था. उनके साये की तरह मैं रहता था और मदद करता था इसलिए वह मुख्यमंत्री बन सकी हैं.

ममता बनर्जी इस बात को बखूबी जानती हैं इसलिए आज जब मैं भाजपा में हूं तो मुझे किसी भी तरह से राजनीतिक क्रियाकलाप से दूर रखने के लिए मेरे खिलाफ झूठे मामले बनवा रही हैं.

इसे भी पढ़ें : #RMC: कमीशनखोरी के लिए निकाला गया था रोड मार्किंग का टेंडर, शिकायत के बाद हुआ रद्द

ये है मामला

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री का आवास कालीघाट थाना क्षेत्र में ही है. दरअसल 2018 के फरवरी महीने में तृणमूल के एक नेता ने पुलिस में शिकायत दर्ज करायी थी.

उसने दावा किया था कि उनके फोन पर किसी अज्ञात व्यक्ति ने फोन किया था और हवाला कारोबार का रुपये पहुंचाने को कहा था. उस व्यक्ति ने मुकुल रॉय का नाम लिया था.

Sport House

इस मामले में अपने बचाव के लिए मुकुल रॉय ने हाईकोर्ट में याचिका लगायी थी. कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया है कि पुलिस अपने हिसाब से जांच तो करेगी लेकिन पूछताछ के लिए मुकुल रॉय को पांच दिन पहले नोटिस देना होगा.

उसके मुताबिक शनिवार को रॉय से पूछताछ हुई है. उसके बाद बाहर निकले मुकुल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर मैं ममता बनर्जी का सहयोगी नहीं होता तो वह आज मुख्यमंत्री नहीं होतीं.

Related Posts

राज्यपाल से मिलीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जगदीप धनखड़ ने कहा, सकारात्मक बातचीत हुई

सूत्रों के अनुसार राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच गोपनीय बैठक हुई. हालांकि किस मुद्दे पर बात हुई, इस बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं हुई.

मैंने ममता दीदी के साथ 32 घंटे तक सड़क पर पदयात्रा की है. आज बंगाल के जो भी मंत्री हैं उनमें से ऐसा कोई नहीं है जो मेरे साथी नहीं रहे हों.

उन्होंने कहा कि जिस तृणमूल नेता ने शिकायत दर्ज कराई है उन्हें किसने फोन किया अथवा फोन आया भी है या नहीं इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें : #Garhwa: अस्तबल नुमा हॉस्पिटल में टॉर्च की रोशनी में ऑपरेशन, प्रशासन ने छापामारी कर सील किया

मेरे खिलाफ झूठे मामले

रॉय ने कहा कि ममता बनर्जी के निर्देश पर पुलिस मेरे खिलाफ लगातार झूठे मामले दर्ज कर रही है क्योंकि ममता मुझसे डरती हैं.

वह जानती हैं कि अगर मैं फ्री रहा और पूरे बंगाल में घूमकर अपनी पार्टी के लिए काम करता रहा तो ममता की सरकार नहीं बचेगी.

इसीलिए वह मुझे किसी भी तरह से उलझाना चाहती हैं. मुकुल ने कहा कि अगर शांतिपूर्वक और पारदर्शी तरीके से नगर पालिका चुनाव हो तो पूरे राज्य में तृणमूल कांग्रेस की नैया डूब जायेगी.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में कितनी सुरक्षित हैं महिलाएं, हर तीसरे दिन हो रहा रेप और आपसी विवाद में हत्या  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like