Jharkhand Vidhansabha Election

विरोधी भी हमारे दोस्त, बदले की भावना से राजनीति नहीं करता, किसने क्या किया ये सामने लाना जरूरी : रघुवर दास

विज्ञापन

Jamshedpur: झारखंड के मुख्यमंत्री व पूर्वी जमशेदपुर से भाजपा के प्रत्याशी रघुवर दास ने गुरुवार को मीडिया से बात की. उन्होंने कहा कि वे बदले की भावना से राजनीति नहीं करते.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके खिलाफ जो भी प्रत्याशी खड़े हैं, सभी उनके दोस्त हैं. चुनाव लड़ना उनका अधिकार है लेकिन जनता किसे वोट दे यह जनता का अधिकार है.

सीएम ने कहा कि जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय चुनाव ल़ड़ रहे सरयू राय हों या जेवीएम से चुनावी मैदान में उतरे अभय सिंह, सभी भाजपा से जुड़े रहे हैं.

सोरेन परिवार ठग रहा आदिवासियों की जमीन

उन्होंने हेमंत सोरेन और उनके परिवार पर अलग-अलग जगहों पर जमीन खऱीदने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि वे बदले की भावना की नहीं रखते. वे तो सिर्फ लोगो को जानकारी देने के लिए बता रहे हैं कि किस प्रकार सोरेन परिवार भोले-भाले आदिवासियों को ठग कर संपत्ति बना रहा है.

एग्रीको स्थित आवास पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें जनता से बीते तीन दिनों में पदयात्रा के दौरान आपार समर्थन मिला. इसके लिए जनता का आभार भी व्यक्त किया.

इसे भी पढ़ें : आचार संहिता के बीच मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित स्क्रीनिंग कमेटी कर रही जनसरोकार के कार्य

यदि भाजपा की सरकार बनी तो बड़े शहरों में पुलिस कमिश्नरी

उन्होंने वादा करते हुए कहा की आने वाले समय में अगर भाजपा की सरकार झारखंड में बनती है तो राज्य के बड़े शहरों में पुलिस कमिशनरी लागू करेंगे जिसमें जमशेदपुर भी शामिल है. कानून व्यवस्था इतनी मजबूत होगी कि महिलाएं दिन हो या रात आराम से कहीं भी आ-जा सकेंगी.

उन्होंने कहा कि कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं कि भाजपा की सरकार बनी तो घरों को तोड़ा जायेगा. इस पर खुद सीएम ने सवाल करते हुए कहा कि वर्षों से शहर के बस्तियों में लोग रह रहे हैं, क्या एक भी घर तोड़ा गया?

जमीन माफिया के सक्रिय होने पर उन्होंने कहा कि कुछ क्षेत्रों में भू-माफिया सक्रिय हैं मगर माफिया सरकारी जमीन पर अतिक्रमण करने में कामयाब नही हो सकेंगे.

उन्होंने जेएमएम एवं कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि दोनों पार्टियों ने कभी आदिवासियों का विकास होने नहीं दिया. कांग्रेस-जेएमएम पर आदिवासियों को भड़काने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा की सरकार आएगी तो आदिवासियों की जमीन आदिवासियों के पास ही रहेगी.

इसे भी पढ़ें : कॉलेज को अपग्रेड कर बनाया विवि, सरकार दावा कर रही- राज्य को मिले नये विवि

2022 तक शुद्ध पेयजल का वादा

सीएम ने कहा कि झारखंड के घनबाद में काला पानी और चाईबासा में लाल पानी के सहारे लोग अपनी जिदंगी गुजर बसर करते हैं.

लेकिन उन्होने प्रण लिया है कि 2022 तक धनबाद और चाईबासा के हर गरीब आदिवासी के घरों में नल से पेयजल उपलब्ध होने लगेगा.

लीज पर दी जायेगी 86 बस्ती

86 बस्ती के मालिकाना हक के सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि 86 बस्ती को मालिकाना हक देने की तैयारी चल रही है.

सरकार 86 बस्ती को लीज पर देने की योजना बना रही है. इसकी व्यवस्था की जा रही है. जल्दी ही इसकी प्रक्रिया भी पूरी कर ली जायेगी.

इसे भी पढ़ें : पीएम को चिट्ठी लिख कर कहा था, न करें विधानसभा का उद्घाटन, अगजनी की हो सीबीआइ जांचः सरयू

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: